मंडी में जन कल्याण एवं विश्व शांति के लिए 41 दिवसीय पंचाग्नि तपस्या महायज्ञ

पड्डल सिद्धभद्रा मंदिर में जन कल्याण एवं विश्व शांति के लिए 41 दिवसीय पंचाग्नि तपस्या रविवार को आयोजित हुई। महंत रामेश्वरानंद सरस्वती ने पंचाग्नि तपस्या के समापन अवसर पर विधि विधान के साथ पंचतंत्र हवन किया। माता के नौ स्वरूपों को कन्या के रूप में मंत्रोच्चारण के साथ पूजन किया गया। इसके पश्चात शोभायात्रा निकाली गई। मंदिर में दिनभर भजन कीर्तन का दौर जारी रहा। श्रद्धालुओं के लिए भंडारा लगाया गया।

महंत ने बताया कि पंचाग्नि तपस्या एवं श्रीमद् भागवत ज्ञान महायज्ञ सप्ताह 22 अप्रैल से 2 जून तक चला। एक जून को दीप महायज्ञ और महाआरती की गई। दो जून को समापन पर पूर्णाहुति और भंडारा लगाया गया। मंदिर में 41 दिन तक विभिन्न भक्ति कार्यक्रम आयोजित किए गए।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *