हिमाचल में स्वच्छ पर्यावरण के लिए 12 किलोमीटर बढ़ाया जंगल क्षेत्र का दायरा

12km-extended-forest-area-for-clean-environment-in-himachal

हिमाचल प्रदेश में पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए प्रदेश में जंगलों का क्षेत्र लगभग पिछले दो सालों में 12 वर्ग किलोमीटर बढ़ा दिया गया है। फॉरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया (एफएसआई) द्वारा किये गए सर्वेक्षण में वन का क्षेत्र बढ़ा हुआ पाया गया।जैसा की सभी जानते है कि एफएसआई की ओर से दो साल में एक बार ही सर्वे किया जाता है।

एफएसआई द्वारा यह सर्वे को सैटेलाइट के माध्यम से किया गया । सैटेलाइट सर्वे में सभी प्रकार के जंगलों (घने जंगल, खुले जंगल और कम घने जंगल) को ट्रेस किया गया। इसी ट्रेसिंग के आधार पर जो रिपोर्ट तैयार की गई उस से यह निष्कर्ष निकला की कि हिमाचल में दो सैलून में जंगलों का दायरा 12 वर्ग किलोमीटर बढ़ा है।

पौधरोपण अभियान में रोपे गए पौधों में करीब 75 फीसदी पौधे कामयाब हुए

पिछले कुछ सालों से वन विभाग ने वन संरक्षण से लेकर पौधरोपण अभियान चला रहे हैं। विभाग ने पिछले साल बरसात के मौसम में तीन दिवसीय पौधरोपण अभियान में 15 लाख पौधे रोपने का लक्ष्य रखा। परन्तु इस लक्ष्य से भी आगे बढ़कर वन विभाग ने 17 लाख पौधे रोपित किए थे। जिसमें 86 हजार स्थानीय लोगों ने हिस्सा लिया था। पौधरोपण अभियान में रोपे गए पौधों में करीब 75 फीसदी पौधे कामयाब हुए हैं। जोकि अपने आप में ही एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

अरण्यपाल अनिल शर्मा ने कहा कि हिमाचल में 12 वर्ग किलोमीटर जंगलों का दायरा बढ़ा है। फॉरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा वन क्षेत्र बढ़ने की पुष्टि की गई है। सैटेलाइट से किए गए सर्वे के नतीजे प्रदेश वन विभाग के लिए बड़ी कामयाबी है। इस से पर्यावरण स्वच्छ और चारों तरफ हरियाली होगी।

ये भी पढ़ें :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *