कॉलेजों में ईयर सिस्टम खत्म न करने की केंद्र सरकार से करेंगे अपील

काफी समय से विवादों में रहे हिमाचल प्रदेश के ईयर सिस्टम को अभी खत्म न करने के संकेत प्रदेश सरकार ने दिए हैं, हिमाचल सरकार ये साफ़ किया है कि डिग्री कॉलेजों में ईयर सिस्टम को खत्म कर अब दोबारा सेमेस्टर सिस्टम शुरू नहीं करेगी। क्योंकि हिमाचल प्रदेश सारा एक जैसा नहीं है इसलिए प्रदेश की भौगोलिक स्थिति का हवाला देते हुए केंद्र सरकार से इस बात पर ज़ोर देकर इस के बारे में छूट मांगी जाएगी। हिमाचल प्रदेश सरकार ने बीते साल 2018 में ही सेमेस्टर सिस्टम को समाप्त कर के फिर से वार्षिक परीक्षा की प्रणाली शुरू कर दी है , जबकि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत पूरे देश के कॉलेजों में सेमेस्टर सिस्टम को लागू करने का प्रस्ताव है ।

सत्र 2018-19 से कॉलेजों में सेमेस्टर की जगह वार्षिक परीक्षा प्रणाली शुरू करवा दी थी

राजधानी शिमला में आयोजित बैठक के दौरान स्टेट हायर एजूकेशन काउंसिल के चेयरमैन व पूर्व कुलपति सुनील गुप्ता ने स्पष्ट किया है कि हिमाचल की भौगोलिक स्थिति देश के अन्य राज्यों से विपरीत है। इसी बैठक के दौरान कुछ अन्य वक्ताओं ने भी वार्षिक परीक्षा प्रणाली  को लागू करने की बात पर ज़ोर दिया। बीते साल ही जयराम सरकार ने भाजपा के दृष्टि पत्र में की गई घोषणा को पूरा करते हुए रूसा के तहत सेमेस्टर सिस्टम को समाप्त कर दिया था। उन्होंने पूर्व कांग्रेस सरकार पर जल्दबाजी में रूसा को लागू करने का आरोप लगाते हुए शैक्षणिक सत्र 2018-19 से कॉलेजों में सेमेस्टर की जगह वार्षिक परीक्षा प्रणाली शुरू करवा दी थी।

मांग पूरी नहीं हुयी तो हिमाचल में पहले की तरह सेमेस्टर सिस्टम शुरू करना पड़ सकता है

इस प्रणाली से कॉलेजों में पढ़ने वाले बच्चे व अभीभावक खुश थे लेकिन अब जब राष्ट्रीय शिक्षा नीति ने देश के सभी राज्यों को कॉलेजों में सेमेस्टर सिस्टम शुरू करने  की बात कही है तो इसके चलते हिमाचल की परेशानियां बढ़ गई हैं। क्योंकि अगर केंद्र सरकार हिमाचल की इस छूट देने की मांग को पूरा नहीं करता है तो फिर से हिमाचल में पहले की तरह सेमेस्टर सिस्टम शुरू करना पड़ जायेगा। हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ने भी इस मांग को केंद्र सरकार में पेश करने की बात का आश्वाशन दिया है ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *