पहाड़ों में सड़क निर्माण महंगा होने के कारण, अतिरिक्त बजट मिले : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला जिले में कहा कि मैदानी इलाकों में सड़क निर्माण सस्ता है जबकि पहाड़ियों में यह महंगा है।उन्होंने कहा की पहाड़ों में सड़क निर्माण मैदानी राज्यों की तुलना में दस गुणा अधिक महंगा पड़ता है। सड़क निर्माण के लिए एक समान पैमाने के कारण पहाड़ी राज्यों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है । विपरीत मौसम और पहाड़ों में बर्फबारी और बारिश के कारण सड़कों को काफी नुकसान पहुंचता है। इसे देखते हुए जयराम ठाकुर ने कहा कि सड़क निर्माण और मरम्मत कार्य के लिए अतिरिक्त बजट मिलना चाहिए।

लगभग 66% भौगोलिक क्षेत्र वन होने के कारण राज्य को सालाना 4 हजार करोड़ रुपये का मिलना चाहिए अतिरिक्त राजस्व

उत्तराखंड में मसूरी से लौटने के बाद राज्य सचिवालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि पहाड़ी राज्यों में रेल और हवाई यातायात की सुविधाएँ बहुत कम हैं। ऐसे में आम लोगों के लिए सड़क ही यातायात का प्रमुख साधन है। हिमाचल सहित अन्य पहाड़ी राज्यों को भौगोलिक परिस्थितियों के अनुसार केंद्र सरकार को वित्तीय मदद करनी चाहिए। यह सब मांगें मसूरी में आयोजित हिमालयी राज्यों के सम्मेलन में उठाई गई हैं। हिमाचल का लगभग 66% भौगोलिक क्षेत्र वन हैं। इससे राज्य को सालाना 4 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व मिल सकता है।

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में प्रदेश अव्वल : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

पर्यावरण की सुरक्षा के लिए मूल्यवान वन संसाधन प्रदान करने के लिए, राज्य को हरित बोनस मिलना चाहिए। राज्य में प्रशासनिक ट्रिब्यूनल को बंद करने संबंधी अधिसूचना के बाद, अध्यादेश की औपचारिकता जल्द ही पूरी हो जाएगी। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में प्रदेश अव्वल है। देश के 10 राज्यों में हिमाचल का उल्लेख होना खुशी की बात है।

ये भी पढ़ें :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *