मिंजर मेले में पहली बार बॉलीवुड कलाकारों की बजाए हिमाचली कलाकारों की प्रस्तुति ज्यादा

For the first time at the Miner Fair, the presentation of Himachali artists is more than Bollywood artists.

हिमाचल प्रदेश के जिला चम्बा में जो मिंजर मेले में कलाकारों की जो प्रस्तुति होती है। उस में इस साल पहली बार बॉलीवुड के बजाए हिमाचली कलाकारों को तवज्जो दी जाएगी। प्रेसवार्ता में मिंजर मेला समिति अध्यक्ष विवेक भाटिया ने इसका मुख्य कारण मिंजर मेला चंबा के स्थानीय लोगों का होना बताया। उनसे मिली जानकारी के अनुसार मिंजर के मेले में आयोजित होने वाली सांस्कृतिक संध्याओं में प्रस्तुति देने को उपमंडल चंबा, भटियात, भरमौर, पांगी, तीसा और सलूूणी से कलाकार पहुंचे थे।

किस ग्रुप को कौन सी संध्या को अपना हुनर दिखाने का मिलेगा मौका ?

इसमें 250 कलाकारों ने गायकी, नृत्य और मिमिक्री की प्रस्तितियों में भाग लिया। ऑडिशन स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा चुने गए 250 कलाकारों में से 88 कलाकारों को मिंजर मेले के दौरान प्रस्तुतियां देने का मौका मिलेगा। मेले में पहली सांस्कृतिक संध्या में दिव्यांग बच्चों का ग्रुप प्रस्तुति देगा। इसके अतिरिक्त पहली संध्या में लाफ्टर नाइट होगी। दूसरी सांस्कृतिक संध्या चंबयाली होगी। तीसरी संध्या मल्टी कल्चर रहेगी। इस संध्या में बाहरी राज्यों के कलाकार अपनी लोक संस्कृति और नृत्य से लोगों को रूबरू करवाएंगे। चौथी सांस्कृतिक संध्या हिमाचली नाइट रहेगी। पांचवीं सांस्कृतिक संध्या पंजाबी, जबकि छठी सांस्कृतिक संध्या फिर हिमाचली नाइट होगी। सातवीं सांस्कृतिक संध्या पंजाबी रहेगी। आठवीं सांस्कृतिक संध्या बॉलीवुड कलाकारों ने नाम रहेगी।

सफाई का रखा जायेगा विशेष ध्यान, गंदगी फैलाने पर दुकानदारों के ऊपर होगी कारवाई

मेले में सफाई का विशेष ध्यान रखा जायेगा, स्टाल लगाने वाले लोगों को अपनी दुकानों और आसपास कि जगह को साफ रखने को कहा गया है। गंदगी मिलने पर स्टाल मालिकों के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। इसके अतिरिक्त प्रशासन की ओर से गंदगी दिखने पर फोटो खींच कर प्रशासन के पेज पर शेयर करने की बात कही है। इसका मुख्य मकसद सफाई व्यवस्था का ध्यान रखना है।ताकि स्थानियो लोंगो को मिंजर मेला खत्म होने के बाद बिमारियों का सामना न करना पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *