पालमपुर से सरकारी बाबू ने लोगों को लगाया लाखों का चूना, अब हुआ फरार

Government officials from Palampur have lent millions of people, now it is absconding

हिमाचल प्रदेश के काँगड़ा जिला के पालमपुर क्षेत्र में सरकारी नौकरी करने वाले एक सरकारी बाबू ने करीब छह लोगों को लाखों रुपये का चूना लगाया है। अब पीड़ित लोगों ने इस मामले को लेकर पुलिस से शिकायत कर रुपये दिलवाने के लिए न्याय की गुहार लगाई है। पालमपुर और आस-पास की पंचायतों के कुछ लोगों के आरोपी होशियार सिंह ने नेटवर्किंग के जरिए चौथी कमाई का लालच देकर छह लोगों से लाखों रुपए की राशि ले ली। चूना लगाने के बाद आरोपित ने इन लोगों से अपना संपर्क बंद कर दिया।

सरकारी बाबू के बारे में नई मिल पा रही सही जानकारी

पैसे ठगे जाने के बाद सभी लोग आरोपी के बारे में जानकारी हासिल करने में जुट गए। पीड़ितों ने पहले अपने तरफ से पैसे वापस लेने का प्रयास किया पर बात नहीं बनते देख उन्होंने विजिलेंस को जानकारी देकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई के लिए गुहार लगाई।विजिलेंस ने इस मामले को लेकर क्या जांच की यह तो पीड़ितों को पता नहीं है लेकिन लंबे समय तक कार्रवाई नहीं होने पर उन्होंने इस मामले की शिकायत पालमपुर पुलिस से की है।

6 लोगों से ऐंठे 70 -70 हज़ार रुपए, रुपए लेकर आरोपी फरार

सरकारी बाबू ने जिन लोगों को चुना लगाया है व अधिकतर लोगों में ज्यादातर रिटायर कर्मचारी ही हैं। पुलिस ने पीड़ितों की शिकायत को दर्ज कर लिया है। शिकायत के अनुसार घुग्घर के युगल किशोर शर्मा, आशा शर्मा व दीक्षा शर्मा से दो लाख दस हजार, लोहना के अश्वनी कुमार से दो लाख चौबीस हजार, घुग्घर के सुरेश कुमार पठानिया से 70 हजार, चौकी के वरुण शर्मा से 70 हजार व पालमपुर से अमर सिंह से 70 हजार की राशि लेकर आरोपी फरार हो गया।

सारे मामले की जानकारी पुलिस को देकर न्याय की आस में बैठे हैं पीड़ित

जानकारी के तहत, विभाग ने यह तथ्य दिया है कि उक्त व्यक्ति ने विदेश जाने की अनुमति नहीं ली है। लग्जरी वाहन लेने के लिए भी विभाग से अनुमति नहीं ली है। पीड़ितों का कहना है कि तृतीय श्रेणी कर्मचारी के पास इतनी राशि कहां से आई है। पीड़ितों ने विभाग से भी मामले की जांच की गुहार लगाई है। पीड़ितों ने अपने साथ हुई ठगी को पुलिस को बताते हुए आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। पीड़ितों ने मामले की जांच की गुहार लगाई है और न्याय की मांग की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *