बसों में ओवरलोडिंग की समस्या से निजात, सरकार का नया फैसला

हिमाचल प्रदेश में सड़क हादसों से सरकार ने सबक लिया है। सरकार ने सूबे में 3281 यात्री वाहनों के परमिट को मंजूरी दी है। अब हिमाचल पथ परिवहन निगम सहित निजी बसों में ओवरलोडिग की समस्या से निजात मिलेगी।

हिमाचल सरकार ने एचआरटीसी के 500 नए रूटों पर बसें चलाने का फैसला लिया है । इस संबंध में क्षेत्रीय प्रबंधकों ने रूटों को समझ लिया है। इसे अंतिम रूप प्रदान किया जा रहा है। आयोजित स्टेट ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी (एसटीए) की बैठक में टैक्सी, मैक्सी कैब, स्कूल बस और लग्जरी बसों के परमिट प्रस्ताव लगाए गए। इसमें सभी लोगों के दस्तावेज सही पाए।

सरकार परिचालकों की अनुबंध आधार पर करेगी भर्ती

चालकों और परिचालकों की कमी के कारण नए रूटों पर बसें चलाने का फैसला नहीं लिया जा रहा था। चालकों की भर्ती प्रक्रिया पूरी होते ही इसे अमलीजामा पहनाया जाएगा। सरकार परिचालकों की भी अनुबंध आधार पर भर्ती कर रही है। परमिट स्वीकृत होने के बाद अब उन्हें रूट का आवंटन होगा। ओवरलोडिंग से निजात दिलाने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है। इससे हजारों युवाओं को रोजगार मिल सकेगा।

जल्द ही इन्हें रूट जारी कर दिए जाएंगे। एसटीए सचिव सुनील शर्मा ने बताया कि बैठक में लाए गए तकरीबन सभी मामलों को स्वीकृति दी गई है। सड़क हादसों की रोकथाम के हरसंभव प्रयास होंगे। हादसों के लिए जो भी जांच में दोषी पाए गए हैं, उनके खिलाफ कानूनन सख्त कारवाई होगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *