गरीब परिवार को नहीं मिल रहा आवासीय योजना का लाभ

सरकार ने गरीबों के लिए बहुत सारी योजनाएं बना रखी हैं लेकिन फिर भी कभी-कभी हमे कुछ ऐसे लोग दिख जाते हैं जो कि इन योजनाओं से बंचित हैं, प्रदेश सरकार ने जहां एक तरफ गरीबों के लिए कई नई योजनायें चला रखी है वहीं दूसरी और प्रशासनिक अधिकारियों की अनदेखी का शिकार आज भी कई गरीब परिवारों को होना पड़ रहा है। ऐसा ही कुछ उपमंडल नदौन की ग्राम पंचायत भरमोटी के कुठार गाँव की गरीब विधवा चंचला देवी का मामला सामने आया है।

प्रशासनिक अधिकारीयों की अनदेखी के कारण आवासीय योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा

सरकार कि तरफ से इतना कुछ होने के बाद भी आज दिन तक आवासीय योजनाओं का लाभ उन्हें नहीं मिल पाया है| हालांकि ये गरीब परिवार बीपीएल से भी संबधित है लेकिन अभी तक आवास योजनाओं के लाभ से बचिंत रखा गया है | जिस के चलते चंचला देवी का परिवार गरीबी व् लाचारी के बोझ तले दबा पड़ा है अतः इस गरीब महिला का गत वर्ष कच्चा मकान भारी बरसात के चलते गिर गया था और साथ में उसी वर्ष लम्बी बीमारी में चल रहे इसके बीमार पत्ति का देहांत भी हो गया था |

अन्य समाचार :

विधवा चंचला देवी बीमार रहती है और उस का परिवार आज भी उसी टूटे हुए मकान में रहने को मजबूर है जो कि कभी भी गिर सकता है, या किसी बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकता है | बीमारी के कारण उसका इलाज कांगड़ा स्थित मेडिकल कालेज टांडा में चल रहा है अतः वह मकान बनाने में असमर्थ है |

परिवार 24 घंटे मौत के साय में रहने को मजबूर

परिवार में हालांकि इस महिला का एक बेटा है जो दिहाड़ी-मजदूरी कर अपना व् अपनी माँ का पेट कैसे न कैसे पाल रहा है परन्तु अब उसकी मेहनत का पैसा रोटी व् दवाईयों के खर्च पर भी कम पड़ रहा है | इसी के चलते वह भी मकान बनाने की हिम्मत अभी तक नहीं जुटा पाया है| लेकिन हैरानी इस बात की है कि स्थानीय पंचायत ने उक्त परिवार को बीपीएल सुविधा से तो जोड़ दिया लेकिन टूटे मकान में रहने वाले इन मां-बेटे के लिए अभी तक सरकार की तरफ से सर ढकने के लिए कोई सहायता राशि नहीं दिला पाई है | हालांकि स्थानीय लोगों ने बहुत बार कोशिश की व् उक्त परिवार ने कई बार पंचायत के माध्यम से प्रधानमन्त्री आवास योजना के तहत मकान बनाने के लिए आवेदन किया जा चुका है लेकिन प्रशासनिक अधिकारियो की अनदेखी के कारण यह परिवार 24 घंटे मौत के साय में रहने को मजबूर है |

बरसात का मौसम चल रहा है यदि क्षेत्र में एक भी भारी बारिश होती है तो ये परिवार का अधगिरा कच्चा मकान कभी भी गिर सकता है जिससे कोई जानी नुक्सान भी हो सकता है इसे में इस परिवार का आखिर जिम्मेदार कौन होगा? स्थानीय ग्रामीणों व् विधवा चंचला देवी ने प्रदेश मुख्यमंत्री, ग्रामीण एवं विकास मंत्री व् प्रशासनिक अधिकारियों से सहायता की गुहार लगाई है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *