हिमाचल में बारिश का कहर घरों में घुस गया पानी, नदी-नाले भी उफान पर

हिमाचल प्रदेश में वीरवार 25 जुलाई 2019 को तड़के सुबह से भारी बारिश की बजह से जहां एक और बहुत सारी जगह पर छोटी बड़ी खड्डें व नाले भी उफान पर आ गए हैं, वहीं कई जगहों में दुकानों व घरों में पानी व मिटटी का मलबा भी घुस गया |

कल की बारिश से होने वाला अभी तक का जान-माल का नुक्सान

  • कुल्लू जिले की उपतहसील सैंज के बाइला गांव में पहाड़ी से पत्थर गिरने से 20 वर्षीय सोमनाथ पुत्र किशोरी लाल की मौत हो गई।
    कुल्लू में ब्यास नदी में आई बाढ़ में सोलंगनाला गांव का कई साल से बन रहा अस्थायी पुल बह गया, जिससे कि गांव के लगभग 400 लोगों का संपर्क अन्य क्षेत्रों से कट गया |
  • लाहुल-स्पीति में जिंगजिंगबार के पास नाले में अचानक आई बाढ़ से मनाली-लेह सड़क मार्ग पर 18 घंटे से ज्यादा समय तक वाहनों की आवाजाही बंद रही, पानी कम होने के बाद बीआरओ के द्वारा सड़क से मलवा हटाए जाने तक घंटो जाम से फंसे रहे लोग ।
  • मंडी-पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग पर चौंतड़ा के नजदीक एक पेड़ गिरने से तीन घंटे तक राष्ट्रीय राजमार्ग बंद रहा जिस से सड़क के दोनों ओर गाड़ियों की लंबी कतारें लग गईं।
  • कोटरोपी-चुक्कूखजरी सड़क मार्ग पर देवधार के समीप सड़क पर जगह- जगह भूस्खलन हुआ व चट्टानें गिरीं हुयी हैं जिसके कारण ये रास्ता बहुत ही खतरनाक हो गया है|
  • मंडी में घटासनी-बरोट राजमार्ग पर र्झंटगरी के पास कुफरधार में खतरनाक भूस्खलन हुआ।
  • राजधानी व जिला शिमला के मशोबरा में एक घर में कीचड़ वाला मलबा घुस गया, जिससे कि मकान में रह रहे लोग काफी कोशिशों के बाद बाहर निकल पाए।
  • जिला कांगड़ा के ज्वालामुखी, डाडासीबा व जसूर में कई जगहों में घरों में बारिश का पानी घुस गया |
  • जिला कांगड़ा में रानीताल के पास बनेर खड्ड में एक व्यक्ति का शव बहता हुआ मिला |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *