15 आईएफएस और 10 एचएफएस अधिकारियों का कर दिया तबादला, वन विभाग में बड़ा फेरबदल

हिमाचल सरकार ने वन विभाग में 15 आईएफएस और 10 एचएफएस अधिकारियों का तबादला कर दिया है। तबादला आदेश के अंतर्गत एपीसीएफ वन्यजीव अजय श्रीवास्तव को सीपीडी आईडीपी सोलन भेजा गया है, जबकि संजय सूद को सीसीएफ ईको टूरिज्म के साथ सीसीएफ एमएंडई का अतिरिक्त चार्ज दिया है। इसके साथ ही सीसीएफ रामपुर अनिल ठाकुर को सीसीएफ वन्यजीव, नागेश कुमार को सीसीएफ एमएंड ई से सीपीडी एचपीएफईएम एलआईपी जाइका प्रोजेक्ट में कार्यभार सँभालने के आदेश हैं।

हिमाचल सरकार के अनुसार, किस अधिकारी और कर्मचारी को मिली कौन सी बीट ?

मिली जानकारी के अनुसार, बीएस राणा को निदेशक एफटीआई चायल से सीएफ नाहन लगाया गया है। इसके साथ ही पुष्पेंद्र राणा को सीएफ आईटी से सीएफ एचआरडी व आर्ठटी और बीएल नेगी को सीएफ नाहन से सीएफ रामपुर, निशांत मंढोत्रा को डीसीएफ वन्यजीव चंबा से डीसीएफ चंबा को तबदील किये गए। मिली जानकारी के अनुसार कृष्ण कुमार को डीसीएफ वन्यजीव धर्मशाला से डीसीएफ रामपुर और प्रीति भंडारी को डीसीएफ हमीरपुर से डीसीएफ वन्यजीव सराहन भेजा गया है। राहुल को संयुक्त निदेशक एफटीआई सुंदरनगर से डीसीएफ वन्यजीव धर्मशाला और इसके साथ ही एलसी बंदाना को डीसीएफ रिसर्च सुंदरनगर से डीसीएफ हमीरपुर, पीएन कुंडलिक को डीसीएफ ठियोग से डीसीएफ डलहौजी, अरविंद कुमार को डीसीएफ कोटगढ़ से डीसीएफ चौपाल और डीसीएफ वन्जीव सराहन धर्मवीर मीना को डीसीएफ भरमौर लगाया गया है।

वन विभाग में हुआ अब तक का सबसे बड़ा फेरबदल : हिमाचल सरकार

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुमार नेगी को डीएफओ रामपुर से डीएफओ ठियोग भेज दिया गया है। राजीव कुमार को डीएफओ जोगिंद्रनगर से डीएफओ वन्यजीव चंबा और राकेश कटोच को डीएफओ डलहौजी से डीएफओ जोगिंद्रनगर बदल दिया गया है।स्थानांतरण के अधीन चल रहे डीएफओ जेएस दुलता को जीएम आरएंड टी फैक्ट्री बिलासपुर तथा राज कुमार को डीएफओ करसोग से डीएफओ कुनिहार स्थानांतरित कर दिया है। इसके साथ ही  सतीश कुमार नेगी को डीएफओ कुनिहार से डीएफओ करसोग, सन्नी वर्म को डीएफओ भरमौर से डीएफओ चुराह लगाया गया है। नीना देवी को जीएम आर एंड टी फैक्ट्री बिलासपुर से डीएम नूरपुर के साथ एचएसडी भद्रोया व सजीव सूद को एसीएफ कुनिहार से एसीएफ शिमला शहरी और पवन कुमार को एसीएफ शिमला शहरी से एसडीएम स्वरा भेज दिया गया है। इस तरह से 25 कर्मचारियों व अधिकारीयों को एक स्थान कहीं अन्य स्थान पर लगाया गया है। यह वन विभाग में हुआ अब तक का सबसे बड़ा फेरबदल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *