कुल्लू में अनिल अंबानी सहित छह कंपनियों के खिलाफ केस दर्ज

हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में निजी भूमि पर बिजली की ट्रांसमिशन लाइन को जबऱदस्ती बिछाने के आरोप में अनिल अंबानी सहित छह कंपनियों के लगभग 50 निदेशकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। न्यायालय के आदेश पर की गई इस कार्रवाई से पहले भी इसी तरह के किसी मामले में बिलासपुर जिले के साल 2015 जबकि पिछले दिनों मंडी के गोहर थाने में इन सभी पर केस दर्ज हो चुका है। जिला कुल्लू में सैंज घाटी के लगभग 29 लोगों की जमीन पर बिना अनुमति से बिजली के ट्रांसमिशन लाइन के टॉवर लगाने इसके साथ ही ग्रामीणों के घरों के ऊपर से ट्रांसमिशन तारें बिछाने का आरोप भी है। मिली जानकारी के अनुसार भुंतर थाना में रिलायंस एनर्जी लिमिटेड के चेयरमैन अनिल अंबानी समेत छह कंपनियों के 50 निदेशक मंडल पर अलग-अलग धारों के तहत मामला दर्ज किया जा चुका है।

चार जुलाई 2019 को भुंतर थाना को दी थी शिकायत याचिका, अब तक नहीं किया गया मामला दर्ज

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जो लोग इससे प्रभावित हुए हैं, उन लोगों की याचिका पर सुनवाई करते हुए अरविंद कुमार की अदालत के भुंतर थाना को एफआईआर दर्ज करने के आदेश मिले हैं। कुल्लू जिला की सैंज घाटी के शुकारी, बराहरीधार, तलाड़ा, शहारण, बालटीसार, सोरा नाल, खइन, भलाण तथ बकसिहाल, छरौन, शलगा तथा कंडा आदि नमक गांवों के प्रभावित लोगों ने इक्क्ठे होकर चार जुलाई 2019 को भुंतर थाना को शिकायत याचिका दी थी, लेकिन मामला अब तक दर्ज नहीं किया गया।

प्रभावित हुए लोगों को संबंधित कंपनियों की ओर से नहीं मिला कोई भी मुआवजा

कुल्लू जिला के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने अपने बयान में कहा कि कोर्ट के आदेश पर धोखाधड़ी, आपराधिक षड्यंत्र रचने तथा पर्यावरण व वन संपदा को नुकसान पहुंचाने कई धाराओं के अंतर्गत केस दर्ज कर लिया गया हैं। जिसके चलते जाँच में पता चला हैं कि जिला कुल्लू के सैंज से पंजाब के लुधियाना तक करीब 303 किलोमीटर लंबी ट्रांसमिशन की लाइन बिछाई जा चुकी है। इसके साथ ही कुल्लू के लगभग एक दर्जन से भी ज्यादा गांवों से होकर यह लाइन बिछाई गई है। अभी तक प्रभावित हुए लोगों को संबंधित कंपनियों की ओर से कोई भी मुआवजा नहीं मिला है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *