स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री ने की कर्मचारियों तथा पेंशनरों को चार प्रतिशत महंगाई भत्ते की घोषणा

Chief Minister announced four percent dearness allowance to employees and pensioners on Independence Day

Chief Minister announced four percent dearness allowance to employees and pensioners on Independence Day

Jai Ramहिमाचल की राजधानी शिमला में स्वतंत्रता दिवस पर प्रदेश सरकार द्वारा कर्मचारियों, भूतपूर्व सैनिकों, महिलाओं और स्कूली बच्चों को कई तोहफे दिए। भारत देश के 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जयराम ठाकुर ने कर्मचारियों तथा पेंशनरों को चार प्रतिशत महंगाई भत्ते की घोषणा भी कर दी है, या सब जनवरी, 2019 से देय होगा।

इस घोषणा से प्रदेश के पौने दो लाख कर्मचारियों को 260 करोड़ रुपये के मिलेंगे अतिरिक्त वित्तीय लाभ

हिमाचल प्रदेश के शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर आयोजित किए गए राज्य स्तरीय समारोह में यह घोषणा की गई, इस घोषणा से प्रदेश के पौने दो लाख कर्मचारियों को 260 करोड़ रुपये के अतिरिक्त वित्तीय लाभ मिलेंगे। हिमाचल प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस बड़े ही हर्षोल्लास और उत्साह से मनाया गया। मुख्यमंत्री ने ऐसे भूतपूर्व सैनिकों, सैनिक विधवाओं, आश्रितों जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक हो चुकी है और जिन्हें वृद्धावस्था पेंशन नहीं मिल रही है, उनकी वित्तीय सहायता को 10,000 रुपये से बढ़ाकर 20,000 रुपये प्रतिवर्ष करने की घोषणा कर दी है।

प्रतियोगी परीक्षा के लिए महिलाओं और लड़कियों को नहीं चुकानी होगी फीस : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

रक्षाबंधन के उत्सव पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने महिला सशक्तीकरण के लिए एक बहुत बड़ी घोषणा की है, जिसके अनुसार प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने के लिए अब महिलाओं को परीक्षा कोई भी शुल्क जमा नहीं करवाना पड़ेगा। शिमला में स्वतंत्रता दिवस के राज्यस्तरीय समारोह की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि राज्य लोकसेवा आयोग और राज्य कर्मचारी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षाओं में अब महिलाओं से कोई फीस नहीं ली जाएगी। जोकि रक्षा बंधन का महिलाओं व लड़कियों के लिए बहुत बड़ा उपहार है।

सरकारी स्कूलों में अब नौवीं-दसवीं के बच्चों को भी निशुल्क मिलेंगी किताबें

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इन सब घोषणाओं के साथ एक घोषणा और की है जिसके चलते अब सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले नौवीं और दसवीं कक्षा के लगभग 65 हजार विद्यार्थियों को निशुल्क किताबें मिलेंगी। मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि अभी तक पहली से आठवीं तक के बच्चों को सरकार मुफ्त किताबें देती थी। पर अब नौवीं-दसवीं के बच्चे भी इस योजना में शामिल कर दिए हैं। जिस कारण ग़रीब परिवार के बच्चों को काफी सहायता मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *