मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह के बीच बढ़ी नज़दीकियां

Close ties between Chief Minister Jairam Thakur and Congress MLA Vikramaditya Singh

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से शिमला ग्रामीण क्षेत्र के कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह की नजदीकियों की खबर की इन दिनों सियासी गलियारों में खूब चर्चा है। विक्रमादित्य सिंह के अधिकतर डीओ नोट को सीएम कार्यालय बगैर किसी ना-नुकूर के मंजूर कर रहा है। इससे विक्रमादित्य अपने क्षेत्र में हर छोटे-बड़े काम को करवा रहे हैं।

विक्रमादित्य पर इस मेहरबानी के पीछे जयराम ठाकुर और वीरभद्र सिंह के परस्पर अच्छे संबंध

विक्रमादित्य सीएम या मंत्रियों को भेजे डीओ नोट और उन पर सरकार की मंजूरी के सभी पत्रों को अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर कर रहे हैं। फिर चाहे वो पत्र रिक्त पदों को भरने की मिली मंजूरियां हों या उनसे मुलाकात के फोटो। आजकल विक्रमादित्य को अन्य विधायकों से मिल रही अलग स्पेशल ट्रीटमेंट की सियासी गलियारों में चर्चा है। इस सब के पीछे जयराम ठाकुर और वीरभद्र सिंह के परस्पर अच्छे संबंधों का होना है।

कई कार्यक्रमों में वीरभद्र सिंह ने की जयराम ठाकुर के व्यवहार की तारीफ, जयराम ठाकुर भी वीरभद्र सिंह के वरिष्ठ नेता होने करते हैं सम्मान

हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस के महान नेता वीरभद्र सिंह के निशाने पर जयराम ठाकुर कभी भी ज्यादा नहीं रहे हैं, जिस तरह से पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल रहते थे। ऐसा भी देखने को मिला है कि लोकसभा चुनाव से पूर्व कई कार्यक्रमों में वीरभद्र सिंह ने जयराम ठाकुर के व्यवहार की तारीफ भी की है। जयराम ठाकुर भी वीरभद्र सिंह को वरिष्ठ नेता मानते है, और इसी नाते उनका सम्मान करते हैं।

विक्रमादित्य सिंह ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाली, कही आया राम गया राम वाली बात

विक्रमादित्य सिंह ने फेसबुक पर इसके बारे में पोस्ट डाली है, इस पोस्ट में लिखा है – हमारे विपक्ष में होने का खामियाजा शिमला ग्रामीण को हम भोगने नहीं देंगे। पक्ष-विपक्ष चलता रहता है। क्षेत्र हित का कार्य रुकना नहीं चाहिए। विक्रमादित्य सिंह बोले – कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं कि मैंने अनुच्छेद 370 और 35 ए का समर्थन इसलिए किया है कि वह भाजपा में जा हूँ। पर किसी दल में होने से पहले हम भारतीय हैं, और देश हित के हर फैसले का हम स्वागत करते हैं। जहां तक मेरी पार्टी में आने जाने की बात है, तो हम कांग्रेस में थे और उम्र भर रहेंगे, ‘आया राम गया राम’ की फितरत हमारे खून में नहीं है। जो पार्टी बदलते रहें।

Close ties between Chief Minister Jairam Thakur and Congress MLA Vikramaditya Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *