बागवानों को सेब की मिल रही बोली से कम कीमत, बागवानों अपने आपको कर रहे ठगा महसूस

Gardeners are getting lower price than the apple bid

हिमाचल प्रदेश में कुल्लू का सेब मंडी में आ रहा है। पर सैंज घाटी में इस साल सेब का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है। सेब का अधिकतर उत्पाद टकोली स्थित सब्जी मंडी में बिक रहा है। प्रतिदिन सेब की दर्जनों जीपें टकोली में स्थित सब्जी मंडी में पहुंच रही हैं। पूरे साल की कड़ी मेहनत करने के बाद भी बागवान यहां आढ़तियों की लूट का शिकार हो रहे हैं। बागवानों को बोली से भी कम कीमत दी जा रही है। ऐसे में बागवान अपने आपको ठगा महसूस कर रहे हैं।

सेब बोली में 23 रुपये प्रति किलो, जबकि बागबानों को पेमेंट 17 रुपये किलो के हिसाब से दी गई

हिमाचल के मुख्यमंत्री के गृह जिले की यह सब्जी मंडी सैंज घाटी की सबसे नजदीक पड़ने वाली मंडी है। बागवान यहां वर्षों से अपना उत्पाद बेचते आ रहे हैं। लेकिन इस साल टकोली में बागवानों को लूटने में आढ़तियों ने कोई कसर नहीं छोड़ी हैं। बागवानो के अनुसार मेहनत के बाद जब उत्पादकों को फसल बेचते हैं तो सब्जी मंडियों में लूट शुरू हो जाती है इस बार मंडी में जब बोली शुरू की गई तो सेब बोली में 23 रुपये प्रति किलो बिका। लेकिन जब पेमेंट देने की बारी आई तो उन्हें 17 रुपये किलो के हिसाब से दी गई। इस के बारे में जब आढ़ती से पूछा उसने कहा कि सेब का साइज छोटा है। जिस के चलते रेट कम दिए गए।

ये भी पढ़ें :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *