अब सीसीटीवी कैमरे की कैद में रहेंगे शराब के बॉटलिंग प्लांट

Now liquor bottling plants will remain in captivity under CCTV cameras

हिमाचल प्रदेश में शराब की बिक्री और परिवहन पर सीसीटीवी कैमरों की नजर रहेगी। राज्य सरकार शराब के 18 बॉटलिग प्लांट में सीसीटीवी कैमरे लगाएगी। शुक्रवार को आबकारी एवं कराधान विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया ।

इस वित्तीय वर्ष के दौरान आठ हजार करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र करने का रखा गया है लक्ष्य : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष के दौरान आठ हजार करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र करने का लक्ष्य रखा गया है। इसे पूरा करने के लिए विभाग के अधिकारी देश के बेहतर टैक्स एकत्र करने वाले राज्यों की प्रक्रिया को स्टडी करें। मुख्यमंत्री ने जीएसटी लागू होने के बाद प्रदेश के राजस्व में आई कमी को पूरा करने का भी निर्देश दिया है । करदाताओं की सुविधा के लिए प्रत्येक जिला मुख्यालय में करदाता सुविधा केंद्र खोले जा रहे हैं, जिनमें से चार केंद्र शुरू हो गए हैं शेष अगले माह तक स्थापित हो जाएंगे।

करदाताओं की सुविधा के लिए जल्द ही यात्री और विशेष भाड़ा भुगतान के लिए किया जाएगा एक मोबाइल ऐप विकसित

करदाताओं की सुविधा के लिए प्रत्येक जिला मुख्यालय में करदाता सुविधा केंद्र खोले जा रहे हैं, जिनमें से चार केंद्र शुरू कर दिए गए हैं, शेष अगले महीने तक स्थापित हो जाएंगे। छोटे करदाताओं की सुविधा के लिए जल्द ही यात्री और माल ढुलाई और विशेष भाड़ा भुगतान के लिए एक मोबाइल ऐप विकसित किया जाएगा।

विभाग सरकार की आकांक्षाओं को खरा उतरने का पूरा प्रयास : आबकारी एवं कराधान के प्रधान सचिव संजय कुंडू

आबकारी एवं कराधान के प्रधान सचिव संजय कुंडू ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि विभाग सरकार की आकांक्षाओं को खरा उतरने का पूरा प्रयास करेगा। एक्साइज एंड टैक्सेशन के प्रधान सचिव संजय कुंडू ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि विभाग सरकार की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास करेगा। उन्होंने अधिक राजस्व प्राप्त करने के लिए राज्य में शराब बनाने और बोतलबंद पौधों आदि के क्षेत्र में निवेश को आकर्षित करने के लिए बीआईओ शराब नीति में बदलाव करने और अनुकूल नीतियों को आकर्षित करने पर जोर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *