हिमाचल प्रदेश में B.Ed के लिए कॉलेज में बदलेंगे नियम व शर्तें

हिमाचल प्रदेश सरकार बी. एड. कॉलेज के नियमों को और सख्त बनाने को कहा है। जिस के लिए कि सरकार ने शिक्षा विभाग को नए नियम व शर्तें तैयार करने के निर्देश दिए हैं। वहीं शिक्षा विभाग ने भी बी. एड. कॉलेजों के लिए नए नियम और शर्तें बनाना शुरू कर दिया है । नए वदलाव के तहत कॉलेजों के लिए जमीन, भवन, मूलभूत सुविधाओं, कोर्स और स्टाफ को लेकर नए नियम और शर्तें तय की जाएंगी । सूत्रों के अनुसार अगस्त माह के अंत तक सरकार प्रदेश में 70 से अधिक बी.एड. कॉलेजों व उनके संचालन के लिए नए नियम लागू कर सकती है।

नए वदलाव में क्या-क्या नियम व् शर्तें होंगी

मौजूदा नियम के तहत बी.एड. कॉलेज के नाम सवा 3 बीघा और 3 बिस्वा जमीन होना अनिवार्य है। यह केवल बीoएडo कोर्स चलाने के लिए जरूरी है लेकिन यदि कॉलेज में डी.एल.एड. और एम.एड. कोर्स भी चल रहे हैं तो इनके पास 5 बीघा जमीन होनी चाहिए। इसके अलावा कॉलेज में कैंपस और 20,000 स्क्ववेयर फुट भवन होना जरूरी है। इसके साथ बी.एड. कॉलेज में शिक्षक व गैर-शिक्षक कर्मचारियों की संख्या लगभग 19 होनी चाहिए। इसके अलावा कॉलेज में लैब और रिसोर्स सैंटर होना भी अनिवार्य है। गौर हो कि प्रदेश में अभी 2 वर्ष का बी.एड. कोर्स ही करवाया जा रहा है। हालांकि कई राज्यों में इस दौरान 4 वर्ष के इंटेग्रेटिड कोर्स करवाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *