शिमला में इलाज कराने आई महिला को बताया एचआईवी पॉजिटिव, सुनकर महिला कोमा में

हिमाचल के जिला शिमला के एक निजी अस्पताल की एक करतूत सामने आयी है। अस्पताल में इलाज कराने आई एक महिला को एचआईवी पॉजिटिव ही बता दिया गया। ये बात सुनकर महिला कोमा में पहुंच गई है।

आईजीएमसी शिमला में पति पत्नी दोनों की रिपोर्ट नेगटिव

जिस वजह से महिला को आईजीएमसी शिमला में लाया गया, उक्त महिला और उसके पति के एचआईवी टेस्ट कराए गए तो दोनों की रिपोर्ट नेगटिव आई। अब महिला के भाई का आरोप यह है कि निजी अस्पताल की गलत रिपोर्ट के कारण ही उसकी बहन की तबीयत ज्यादा खराब हुई है। जिस वजह से उसे कृत्रिम ऑक्सीजन दी जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार रोहड़ू क्षेत्र की 22 वर्षीय महिला को 21 अगस्त को बच्चेदानी की ट्यूब फटने के बाद महिला को वहां के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जब महिला के टेस्ट हुए तो उस महिला की रिपोर्ट एचआईवी पॉजिटिव बता दी। जैसे ही महिला को रिपोर्ट के बारे में पता चला उसकी तबियत बिगड़ गई और वो कोमा में चली गई।

निजी अस्पताल को नोटिस जारी, मामले के बारे में निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं को भी बताया जायेगा

जब डॉक्टरों से कोमा में जाने का कारण पुछा तो उन्होंने ब्रेन डेड बताया और आईजीएमसी रेफर किया। महिला के परिजन इस मामले की शिकायत स्वास्थ्य केंद्र से करने जा रहे हैं कि ताकि अस्पताल की टेस्ट रिपोर्ट इस तरह गलत आने का पर्दाफाश हो सके। शिमला के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नीरज मित्तल ने बताया कि यह मामला उनके ध्यान में आ गया है। उनके अनुसार निजी अस्पताल को नोटिस जारी किया जाएगा। जिस वजह से इस मामले के बारे में निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं को भी बताया जायेगा।

Related Posts