हिमाचल की 35 से ज्यादा पंचायतों में करोड़ों रुपयों की धांधली

स्थानीय लेखा विभाग की ऑडिट रिपोर्ट में हिमाचल प्रदेश की लगभग 35 ग्राम पंचायतों में करोड़ों रुपयों के घोटालों के खुलासा हुआ है।

स्थानीय लेखा विभाग ने लेखा परीक्षा वर्ष 2015 से वर्ष 2018 के बीच हुए कामकाज पर करीब 100 से अधिक ग्राम पंचायतों की ऑडिट रिपोर्ट पंचायती राज निदेशालय को भेजी है ।

इतने बड़े स्तर पर धांधलियां व अनियमितताएं की रिपोर्ट के आधार पर राज्य सरकार ने जांच बैठाई तो इन ग्राम पंचायतों के कई प्रतिनिधि और कर्मचारी नप सकते हैं ।

अमर उजाला में छपी खबर के अनुसार इन ग्राम पंचायतों में अनियमितताएं पायी गयी हैं जिनमे से जिला सिरमौर की ग्राम पंचायत अरजौली, जरवाल जुनैली, कोटी पधोग, लोजामानल, पनोग, टिक्करी-दसाकना आदि। बिलासपुर जिले की धरोट, जेजवीं, खारकरी, कोसारियां, कुलीजार, मलरावन, री, तनबौल, तरवार आदि। चंबा जिले की चलारा, चनहौटा, दुर्गेठी, गाहर, सनचुई, सपरोथ, टिक्करी, टिक्करीगढ़ आदि।

हमीरपुर जिले की अमरोह, चमनेहर, चौडू्, बदारन, बगेहड़ा, बड़सर, बसारल, भलयानी, बिझड़ी, झाल्लन, गसोता, जाहू, जलाड़ी, पंधेर, पथल्यार, मिन्हासा आदि। कांगड़ा जिले की अटाहरा, चंबी, हार, झुंब, खरानल, लदौरी, मिंजरान, मुहिन, परौर, सारी, तंबेर, टकोली, त्रेहल आदि। शिमला जिले की बावत, जुब्बली, जुरू, कंडा बनाह, कोटगढ़, कुलग, मझोली, पुजारली-तीन, टिक्कर, थरोला आदि।