ज्वालामुखी में डेढ़ घंटे में सिलेंडरों से भरा ट्रक खाली, गैस की सप्लाई न होने से घरों को लौटना पड़ा निराश

an hour and a half truck filled with cylinders

an hour and a half truck filled with cylinders

विश्व में विख्यात शक्तिपीठ श्री ज्वालामुखी के शहर में गैस सिलेंडरों की कमी की वजह से लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। नवरात्रों का सीजन पास आते ही गैस की सप्लाई न मिलने से उपभोक्ताओं में सरकार के लिए गुस्सा है। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह सिलेंडरों से भरा ट्रक डेढ़ घंटे में खाली हो गया। कुछ उपभोक्ताओं को निराश घरों को लौटना पड़ा।

गैस एजेंसी मालिक ने गैस की सप्लाई न आने का बताया कारण, स्थानीय लोगों में गुस्सा

गैस एजेंसी के मालिक का कहना है कि जिन राज्यों से गैस सिलेंडर आते है, वहां पर भारी बरसात की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। इसके साथ ही रेलवे सेवाएं भी भारी बरसात से क्षतिग्रस्त हुई है, जिससे गैस सिलेंडर के सप्लाई बहुत कम आ रही हैं । लेकिन लोगों का कहना है कि बरसात तो कब की खत्म हो गई है। इसके साथ ही पूरे प्रदेश में कहीं गैस की कमी नहीं है, मात्र ज्वालामुखी में ही ऐसी दिक्कत आ रही है। लोगों ने मंगलवार को शिकायत भी दर्ज करवाई है कि स्थानीय गैस एजेंसी के प्रबंधकों ने ट्रक आने से पहले ही सिलेंडर की पर्चियां काट दी और लोगों को दरंग में पुराना सिलेंडर देकर नया भरा हुआ सिलेंडर लेने को बोल दिया।

इसी बात से गुस्सा होकर लोगों ने जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक धर्मशाला नरेंद्र धीमान से विनती की है कि ज्वालामुखी के गैस एजेंसी के मालिक व प्रबंधक को सख्त निर्देश दिए जाएं कि भविष्य में कभी इस तरह से गैस न बांटी जाए। सिलेंडर के ट्रक के आने के बाद ही पैसे लेकर पर्ची दी जाए। स्थानीय लोगों में राम स्वरूप शास्त्री, जेपी चौधरी, जोगिंद्र कौशल व देसराज अत्री आदि ने विधायक रमेश धवाला से भी आग्रह किया है कि गैस के संकट से ज्वालामुखी को निकलने के लिए हाई अथारिटी से बात की जाए जिस से नवरात्र व त्योहारी सीजन में लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े।