हिमाचल के स्कूलों में दूसरी से पांचवीं कक्षा तक संस्कृत विषय को पाठ्यक्रम में किया शामिल, नए सत्र ने निति लागू

अब दूसरी कक्षा से ही स्कूलों में नौनिहाल संस्कृत की पढ़ाई भी कर सकेंगे। अब दूसरी कक्षा से ही संस्कृत की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। स्कूल शिक्षा बोर्ड ने नए सत्र में दूसरी से पांचवीं कक्षा तक संस्कृत विषय को पाठ्यक्रम में शामिल करने की योजना बना दी गई है।

दूसरी कक्षा से संस्कृत विषय को पाठ्यक्रम में किया जाएगा शामिल

इस योजना को लागू करने के लिए हिमाचल शिक्षा बोर्ड जल्द पाठ्यक्रम तैयारकर रहा है। इस बात को लेकर बोर्ड के सचिव धर्मेश रामोत्रा ने बताया कि दूसरी कक्षा से संस्कृत विषय को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

संस्कृत विश्व विद्यालय की स्थापना पर चली है योजना

हिमाचल प्रदेश की सरकार ने संस्कृत विश्वविद्यालय स्थापित करने की के लिए ये काम शुरू कर दिया है। इसके साथ ही इसके लिए उच्चतर शिक्षा विभाग की बनायीं गई समिति ने बैठकें कर योजना बनाना शुरू कर दी है। इन सब को देखते हुए अब प्रारंभिक शिक्षा में संस्कृत को शामिल करने से संस्कृत विश्वविद्यालय को भी लाभ होगा। यही वजह है कि नए सत्र से दूसरी कक्षा से ही संस्कृत विषय कि पढ़ाई शुरू करवा दी जाएगी।