हिमाचल में रसोई गैस सिलिंडर के दाम 12 रुपये और व्यावसायिक सिलिंडर के दाम 22.50 रुपये बढ़ गए

आजकल हिमाचल में नवरात्र, दशहरा, करवाचौथ और दिवाली का त्योहारी सीजन चला हुआ है, जिसके चलते बिना सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलिंडर 12 रुपये महंगा हो गया है। इस अक्तूबर में रसोई गैस के लिए 646 रुपये और साथ ही होम डिलीवरी के लिए 50 रुपये अलग शुल्क देना होगा।

व्यावसायिक सिलिंडर के दाम भी 22.50 रुपये बढ़ गए, होम डिलीवरी के लिए 100 रुपये अलग शुल्क

जानकारी के अनुसार व्यावसायिक सिलिंडर के दाम भी 22.50 रुपये बढ़ गए हैं। इसके अतिरिक्त होटल और ढाबे वालों को सिलिंडर के लिए 1,170 के साथ होम डिलीवरी के लिए 100 रुपये अलग देने होंगे। नई रेट एक अक्तूबर से लागू हो गए हैं।

दो महीनों में रसोई गैस 27 रुपये जबकि व्यावसायिक सिलिंडर 73.50 रुपये हो चुका है महंगा

पिछले दो महीनों में रसोई गैस 27 रुपये और व्यावसायिक सिलिंडर 73.50 रुपये महंगा हो चुका है। पहल योजना से जुड़े उपभोक्ताओं को उनके बैंक खाते में कितनी सब्सिडी मिलेगी, इस पर अभी कुछ कहा नहीं जा सकता। मंगलवार शाम तक गैस कंपनियों और एजेंसियों में इस सब्सिडी की राशि अपडेट नहीं की गई थी। गैस एजेंसी के अधिकारियों का कहना है कि एक से दो दिन के भीतर सब्सिडी के बारे में पता चल जायेगा।

मार्च 2020 तक घरेलू उपभोक्ताओं को सब्सिडी कोटे के तहत मिलेंगे 12 सिलिंडर, सब्सिडी कोटे के सिलिंडर समाप्त होने पर बाजार कीमत देनी होगी

मिली जानकारी के अनुसार सितंबर में रसोई गैस के दाम में 15 रुपये और व्यावसायिक में 51 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी। अक्टूबर में फिर से गैस सिलिंडर के दाम को बढ़ाया गया। मिली जानकारी के अनुसार, मार्च 2020 तक घरेलू उपभोक्ताओं को सब्सिडी कोटे के तहत 12 सिलिंडर मिलेंगे। लेकिन सब्सिडी कोटे के सिलिंडर(12 सिलिंडर) समाप्त होने पर बाजार की ही कीमत देनी होगी।