शक्ति प्रदर्शन में गद्दी और ओबीसी के पक्ष में हुई नारेबाजी, टिकट न मिलने पर रोए विपिन

हिमाचल प्रदेश के जिला काँगड़ा के धर्मशाला में भाजपा, कांग्रेस और निर्दलीय उम्मीदवारों के शक्ति प्रदर्शन में जातिय कार्ड खेला गया। मिली जानकारी के अनुसार इस शक्ति प्रदर्शन में गद्दी और ओबीसी के पक्ष में जमकर नारेबाजी की गई।

राकेश कुमार के समर्थकों ने भाजपा समर्थकों के समक्ष ओबीसी के पक्ष में की नारेबाजी, बीजेपी की ओर से भी हुई नारेबाजी

धर्मशाला के कचहरी अड्डा में निर्दलीय ओबीसी उम्मीदवार राकेश कुमार के समर्थकों ने भाजपा के समर्थकों के सामने ओबीसी के पक्ष में खूब नारेबाजी की। जिसे देख कर भाजपा की ओर से भी नारेबाजी में कोई कसर नई छोड़ी गई। जिसके चलते कचहरी अड्डा में कुछ समय के लिए माहौल तनावपूर्ण हो गया। इसी बीच राकेश कुमार और विशाल नैहरिया ने एक-दूसरे के समक्ष हाथ लहराकर एक दूसरे को तंज कसा है।

जातिय समीकरण उम्मीदवारों का बिगाड़ भी सकते हैं खेल, नारेबाजी से दूसरे वर्गों द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने शुरू

नामांकन के पहले ही दिन जातियों पर नारेबाजी होने से दूसरे वर्गों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने शुरू कर दिए हैं। इस तरह की जातिये समीकरण सभी उम्मीदवारों का खेल बिगाड़ भी सकता हैं। मिली जानकारी के अनुसार भाजपा के कार्यकर्ताओं ने जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सहारे ही चुनावी रण पार करने पर फोकस रखा। इस सब पर कांग्रेस ने विकास के हर विषय पर फेल होने को लेकर जयराम सरकार पर हमला बोल दिया है।

टिकट न मिलने पर रोए विपिन

टिकट न मिलने से विपिन नैहरिया बहुत दुखी हुए, जिस वजह से विपिन नैहरिया वरिष्ठ नेताओं के सामने अपना दुःख छुपा न सके और रो पड़े।

ये भी पढ़ें :