रोहतांग पास हिमाचल में स्तिथ बर्फ के पहाड़ो के मध्य एक लोकप्रिय स्थान, Rohtang Pass is a popular place in Himachal amidst snowy mountains

Rohtang_Pass_12

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में स्तिथ यह एक बहुत ही लोकप्रिय पर्टयक स्थान है। यह स्थान हिमालय का एक प्रसिद्ध दर्रा हैं। जो बहुत ही खूबसूरत स्थान है। जहा हर साल बहुत से पर्टयक देश विदेश से आते है। बर्फ प्रेमियों के लिए यह सबसे पसंदीदा स्थल है। रोहतांग दर्रा की समुन्द्रतल से ऊंचाई 13,050 फीट है। रोहतांग दर्रे को पहले भृगु-तुंग नाम से जाना जाता है। इस स्थान में बहुत ही मौसमी बदलाव होते है।
यह स्थान मनाली लेह राजमार्ग पर स्तिथ एक प्रमुख केंद्र है। हिमाचल प्रदेश को यह दर्रा मनाली को जम्मू कश्मीर के लेह से जोड़ता है।

rohtang_pass(1)

पुरे साल यह दर्रा केवल चार या पांच महीनों के लिए ही खुला रहता है। सर्दियों के मौसम में बर्फबारी होने की बजह से यह दर्रा बंद हो जाता है। रोहतांग दर्रा मनाली को लाहौल-स्पीति और जांस्कर से जोड़ता है। यह भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग 21 का भाग है। वर्षा और अधिक बर्फ़बारी की बजह से लेह मार्ग का निर्माण कार्य और मरम्मत सीमा सड़क संगठन द्वारा किया जाता है। ताकि भारतीय सेना के बड़े-बड़े और भारी वाहन यहाँ से गुजर सकें।भारत का एहम राजमार्ग होने की बजह से यहां सुरक्षाकर्मी भी तैनात रहते है।

Rohtang_Pass_90

रोहतांग में उत्पन समस्याए

रोहतांग दर्रे को लाहौल स्पीति का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। पुरे वर्ष यह स्थान बर्फ से ढखा रहता है। राज्य पर्यटन विभाग के अनुसार यहां साल 2008 में तकरिबन 100,000 विदेशी पर्यटक यहां आए थे। यह स्थान हिमाचल में स्तिथ सबसे महत्वपूर्ण पर्टयक स्थानों में से एक है। यहां बहुत से सैलानी रोहतांग दर्रे में स्कीइंग और ट्रेकिंग करने के लिए आते है। इस स्थान में भारी संख्या में पर्टयक आकर्षक नजारों और लुत्फ लेने और साहसिक खेल खेलने के लिए यहां आते हैं। रोहतांग दर्रा के पास ब्यास नदी के बाएं किनारे पर एक छोटा सा गांव वशिष्ठ एक दर्शनीय स्थान है। यह वशिष्ठ गांव रोहतांग जाते हुए, मनाली से 12 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ कोठी एक बहुत ही लोकप्रिय स्थान है।

यह स्थान सैलानियों का पसंदीदा स्थल है। जिस कारण यहां हर साल बहुत पर्टयक गुमने और प्रकृति के सौंदर्य को देकने के लिये आते है। जिसकी बजह से यहां प्रदूषण की मात्रा भी ज्यादा हो री है। गाड़ियों की आवाजाही के कारण यहां बहुत सारा कचरा एकत्रित हो रा है। व्यस्त समय में यहाँ से प्रतिदिन 2000 किलो कचरा निकला जाता है। जो यहां के वातावरण और सौंदर्य को हानि पहुंचा रहा है। यह प्रदूषण बहुत सी बीमारियों का कारण भी बनता जा रा रहा है। यदि आप इस स्थान में आने का प्लान बना रहे है, तो अपने द्वारा ले के गए प्लास्टिक और अन्य कचरे का सही समाधन करे और प्रकृति की सुंदरता को बनाये रखे। यहां से व्यास नदी निकलती है। जो इस स्थान को और रमणीय और सुंदर बनाती है।

Rohtang_Pass

कैसे पहुंचे रोहतांग, How to reach Rohtang

यह स्थान हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में स्तिथ है। कुल्लू से इस स्थान की दुरी 91 किलोमीटर है। कुल्लू से आप टैक्सी या बस के द्वारा यहां पहुंच सकते हो, कुल्लू और मनाली में बहुत सी ट्रैवल कम्पनिया बाइक्स और कार रेंट पर देती है। जिस के द्वारा आप इस स्थान के सौंदर्य को देख सकते है। और प्रकृति अद्भुत दृश्य को निहार सजकते हो।