बाबा नाहर सिंह मंदिर – एक ऐसा चमत्कारी मंदिर जहां खुद कबुलता है इंसान गलतियां, Baba Nahar Singh Ji Temple Bilaspur

हिमाचल प्रदेश में बहुत से ऐसे स्थान है जो बेहद चमत्कारी और विचित्र है, जहां हर साल भारी मात्रा में श्रदालु दर्शन के लिए आते है। कुछ ऐसा ही एक स्थान है बिलासपुर में जो अपनी आस्था और अपनी पवित्रता के लिए पुरे देश भर में जाना जाता है। यह स्थान हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में स्तिथ है। जो बाबा नाहर सिंह मंदिर नाम से विख्यात है। इस मंदिर के यह मान्यता है की जो भी भट यहां सच्चे श्रद्धा के साथ आता है, इस पवित्र मंदिर में आ के वप खुद ही अपनी गलतियों से परिचित हो जाता है।

picture_saved(42)

भव्य भंडारा भंडारे का होता है आयोजन, Grand bhandara bhandare is organized

श्रदालुो के घर में शादी हो या बेटे का जन्म, या फिर कोई भी त्योहार क्यों ना हो श्रदालु यहां दर्शन के लिए आ जाते है। जब नए मौसम के साथ नई फसल आती है। लोग खुशी से झूमते हुए बिलासपुर शहर के धौलरा में स्थित बाबा नाहर सिंह मंदिर दर्शन के लिए पहुंचते हैं। हर साल बहुत भारी मात्रा में श्रदालु आते है। इससे सारा क्षेत्र बाबा जी के जयकारों से गूंजयमान रहता है। मंदिर परिसर में गूंजने वाले भजनों के स्वर से माहौल भक्तिमय हो जाता है। लोग पूरी आस्था के साथ यहां आते है। इस मंदिर में हर मंगलवार को भव्य भंडारा लगया जाता है। बहुत बड़ी मात्रा में श्रद्धालु यहां प्रसाद ग्रहण करने के लिए आते है।

picture_saved(44)

हर मंगलवार को यह मंदिर एक मेले जैसा होता है, प्रतीत, Every Tuesday this temple is like a fair, seem

इस मंदिर में ज्येष्ठ माह के हर मंगलवार को यह मंदिर एक मेले जैसा प्रतीत होता है। हजारों श्रद्धालु लाइनों में खड़े होकर बाबा जी के दर्शनों को पहुंचते हैं। इस मंदिर में हजारों की संख्या में बाबा के भक्त दर्शन के लिए पहुंचे। सुबह होते ही इस मंदिर के परिसर में लंबी-लंबी लाइनें लग लग जाती है। बाबा जी के इस धार्मिक मंडी में दर्शन करने के लिए श्रदालु दूर-दराज के क्षेत्रों से सुबह ही मंदिर में पहुंच जाते है।

picture_saved(43)

हर दिन श्रद्धालु अपनी अपनी मनोकामनाएं लेकर यहां पहुंचते है। यह मंदिर एक बहुत ही लोकप्रिय धार्मिक स्थानों में से एक है यदि आप भी बिलासपुर गुमने का प्लान बना रहे तो इस धार्मिक स्थान में आना ना भूले। धार्मिक ग्रंथो में भी मिलता है श्री बाबा नाहर जी का वर्णन।

Related Posts