सांगला घाटी में स्तिथ बौद्ध मठ एक प्रसिद्ध पर्टयक स्थान, Buddhist monastery in the Sangla Valley of Himachal Pradesh is a famous temple place

Sangla Valley

सांगला घाटी हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में स्तिथ एक बहुत ही लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान है। इस घाटी में बहुत से रोमांचित और धार्मिक पर्टयक स्थान है जो बेहद शांत और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर है। इस लोकप्रिय सांगला की निकटता में स्थित बौद्ध मठ एक विख्यात धार्मिक स्थान है जो यहां गुमने आये पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। यह लोकप्रिय मठ ब्रलेंगी में रेकाँग प्यो के पास स्थित है। इस स्थान को ब्रलेंगी गोम्पा के रूप में भी जाना जाता है। यह मठ 1992 में महाबोधि सोसायटी द्वारा निर्मित किया गया था।

इस मठ का निर्माण दलाई लामा के लिए किया गया था, This monastery was built for the Dalai Lama

इस मठ को आधुनिक बौद्ध स्मारक के रूप में दर्शाया गया है। इस मठ का निर्माण दलाई लामा के लिए बनाया गया था।जो इस क्षेत्र में कालचक्र समारोह करने आये थे। बुद्ध की 10 मीटर लंबी, खड़ी स्थिति में, मूर्ति इस मठ के करीब स्थित है। जो बेहद खूबसूरत है। हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में स्तिथ सांगला घाटी अत्यंत ही रमणीक और लोकप्रिय स्थान है।

सांगला घाटी हिमालय के बहुत से सुन्दर दृश्य प्रदान करती है। किन्नौर में स्तिथ बस्पा नदी सांगला घाटी के बीचों बीच से गुजरते हुए करछम में सतलुज नदी में मिल जाती है। करछम से ही सांगला घाटी शुरू हो जाती है जो छितकुल में जा कर खत्म होती है।

खूबसूरती से भरपूर यह सांगला घाटी, The beautiful Sangla Valley

सांगला घाटी बर्फ से ढके ऊँचे-ऊँचे पर्वतों के बीच में बसी सौंदर्य से भरपूर घाटी है। इस घाटी में सेब, खुमानी, अखरोट और अन्य फलों के बगीचे स्तिथ हैं। यहाँ का सेब हिमाचल के बाकी क्षेत्रों से भिन्न और बेहतर होता है। जो पुरे देश भर में जाने जाते है। देवदार के जंगलों से घिरी ये वादियां पर्टयकों को अपनी ओर खींचती हैं। इस घाटी में स्तिथ गलेशियर के ठन्डे पानी वाली बस्पा नदी में ट्राउट मछली पाई जाती है। जो खाने में बेहद स्वादिस्ट होती है।