कोटखाई गांव शिमला, Kotkhai village (Shimla) in Hindi

हिमाचल प्रदेश के शिमला में स्तिथ यह एक बहुत ही लोकप्रिय और प्रकृति के सौंदर्य से भरपूर रमणीय स्थान है। यह गांव पुरे तरह से प्रकृति से भरपूर है। यहां हरे भरे घास के मैदान और देवदार के ऊँचे ऊंचे पेड़ यहां की शोभा को और ज्यादा बड़ा देते है। कुछ बुद्धिमानों व्यक्तियों ने कहा है की हिमाचल प्रदेश की सुंदरता पहली नज़र में देखने से अधूरी है। हिमाचल को जानने और उसकी सराहना करने और उसका आनंद लेने के लिए उसे तकरीबन 50 किलोमीटर की दूरी पर अच्छी तरह से जाना चाहिए।

Kotkhai_05

इस गांव का नाम का कारण यहां स्तिथ चट्टान पर राजा के महल कोट महल, खाई चट्टान के कारण इस जगह को कोटखाई कहा जाता है। इस स्थान में एक पुराना महल एक चट्टान के ऊपर स्तिथ है, जिसके नीचे गिरि गंगा की एक सहायक नदी बहती है। कोटखाई से 12 किमी, की दुरी में एक बहुत ही आकर्षित गांव है जो हरे-भरे सेब के ऑर्किड, देवदार के पेड़ो के बिच में स्तिथ है। इस गांव का दृश्य बहुत ही मनमोहक और लोकप्रिय है। इस गांव में बहुत से धार्मिक स्थान भी है। जैसे देवी महामाई और लंकरा वीर का एक सुरम्य मंदिर यहां के मुख्य आकर्षण हैं।

पर्टयकों का पसदींदा स्थान

यह स्थान में हर महीने मौसम की अपनी विशेषता होती है। इसलिए साल के किसी भी समय में यहां की यात्रा आपको अधिकतम संतुष्टि प्रदान करेगी। पास के रेस्ट हाउस कोथाई में मूर्ति गेस्ट हाउस है और डूमर में होटल एप्पल क्राउन। यहां आप रात्रि में रुक सकते है। कोटखाई पैलेस पर्यटकों की रुचि का एक लोकप्रिय स्थान है। कोटखाई में राजा राणा साहब ने यहां एक महल का निर्माण करवाया था। जो यहां आये पर्टयकों को अचंभित वैभव को प्रदर्शित करता है। यह महल सुंदर तिब्बती वास्तुकला में निर्मित है। यह महल अद्वितीय पैगोडा शैली की छत और जटिल लकड़ी की नक्काशियों को दर्शाता है।

kotkhai_06

प्रसिद्ध और लोकप्रिय धार्मिक स्थान, Famous and popular religious places

कोटखाई हिंदी और उर्दू भाषा से लिया गया है, जहाँ “कोट” का अर्थ किंग्स पैलेस और “खाई” का अर्थ गहराई है। कोटखाई एक तहसील है जिसमें लगभग 40 गाँव हैं। संपूर्ण तहसील को गुणवत्ता वाले सेब उत्पादन के लिए जाना जाता है। सेब की सबसे बड़ी मात्रा कोटखाई द्वारा पूरे शिमला शहर में उत्पादित की जाती है। इस स्थान में भारी मात्रा में सेबो का उत्पादन होता है। कोटखाई गांव अपने मेलों और पारंपरिक सांस्कृतिक के लिए भी जाना जाता है। यहां के निवासी वास्तव में देवता के प्रति भक्तिमय हैं। और देवी देवता में ज्यादा विश्वास रखते है। जहां कई गांव देवता के विभिन्न रूपों में विश्वास करते हैं।

kotkhai_08

कोटखाई आने का सही समय और दुरी, Best time to visit Kotkhai

सर्दियों में यहां का नजारा बहुत ही आकर्षित और मनमोहक होता है। बर्फबारी के कारण यह स्थान पर्टयकों के आकर्षण का केंद्र बन जाता है।
यदि आप शिमला का गुमने और समय व्यतीत करने का प्लान बना रहे है तो इस स्थान में आना ना भूले। शिमला से कोटखाइ 60 किलो मीटर की दूरी पर स्तिथ है। सड़क मार्ग से कम से कम 2 घंटे 3 मिनट लगेंगे। यह दिन के मौसम में सुखद मौसम है, लेकिन रातों में ठंडा हो सकता है।

Related Posts