“सिमसा माता मंदिर” एक ऐसा चमत्कारी मंदिर जहा रात भर जागने से होती है संतान पूर्ती, “Simsa Mata Temple” One such miraculous temple where waking up overnight is fulfilling children

simsa01

हिमाचल प्रदेश में बहुत से चमत्कारी और रहस्मयी धार्मिक स्थल है। इन्ही में से एक है। माँ सिमसा माता का यह मंदिर यह मंदिर पुरे देश भर में प्रसिद्ध है। दूर-दूर से नवविवहित जोड़े जिन की संतान नहीं हो पाती वो यहां संतान की पूरी के लिए दर्शन करने आते है। माता सिमसा को संतान दात्री माता के नाम से भी जाना जाता है। यह धार्मिक स्थान हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के लड-भड़ोल तहसील के सिमस नामक खूबसूरत और प्राकृतिक दृश्य से भरपूर स्थान पर स्थित है। हमारे भारत-वर्ष में अनेकों मंदिर हैं। और उन सभी मंदिरो की अपनी अपनी स्थापना की अपनी-अपनी गाथाये है।

simsa02

लाखो श्रदालु आते है दर्शन के लिए, Lakhs of devotees come to see

माँ सिमसा के दर्शन के लिए हर वर्ष यहाँ सैंकड़ो नि:सन्तान दंपति सन्तान पाने की इच्छा ले कर माता सिमसा के दरबार में आते हैं। और माना जाता है की यहां रात भर जागने से श्रदालुओ की मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है। इस मंदिर की एक अनोखी बात यह है की यहां नवरात्रों में नि:संतान महिलायें माता सिमसा मंदिर परिसर में आती है। और यह मान्यता है की यहां के फर्श पर  सोने से संतान की पूर्ति हो जाती हैं

 फर्श पर सोने से होती है संतान पूर्ति, Sleeping on the floor gives children fulfillment

यहां आये श्रदालुओ का यह विश्वास है कि जो महिलाएं माता सिमसा के प्रति मन में सच्ची श्रद्धा लेकर मंदिर में दर्शन के लिए आती है। माता सिमसा उनके सपने में आकर उनको दर्शन देते है और उन्हें संतान का आशीर्वाद प्रदान करती है। कहा जाता है की यदि कोई महिला को  स्वप्न में माँ द्वारा दिए आशीर्वाद में कंद या फिर मूल का फल प्राप्त होता है। इसका मतलब है की उनकी मुराद जल्द पूरी होनी वाले होती है। इसलिए दूर-दूर से हजारों नि: संतान महिलाएं इस खास फर्श पर सोने के लिए मंदिर में आती हैं।

simsa03

श्रदालुओ का अटूट विश्वास, Unwavering faith in Sradalu

आज तक कोई यह पता नहीं लगा पाया की आखिर है क्या इस मंदिर में, परन्तु यहां आये श्रदालुओ का अटूट विश्वास को देख कर तो यही लगता है कि कुछ ऐसा है जो ज्ञान-विज्ञानं और मानवीय समझ से परे है। गर्मियों के मौसम के दौरान इस धार्मिक मंदिर में 2  दिवसीय मेला लगता है। जिसमेदेश विदेश से लोग माँ के दरबार में दर्शन के लिए आते है।

लकड़ी या पत्थर दिखा सपने में तो नहीं होगी संतान, Will not be children in dreams showing wood or stone

इस स्थान में और भी बहुत सी अन्य मान्यताये प्रचलित है। माना जाता है की अगर महिला को स्वप्न में लकड़ी या पत्थर दिख जाये तो इसका मतलब है। वो औरत कभी भी मां नहीं बन सकती। इसके बाद भी यदि कोई औरत इस सपने को देख लेती है और उस औरत के स्वप्न में लकड़ी या पत्थर दिख जाये और उस के बाद भी वो अपना बिस्तर मंदिर परिसर से नहीं हटाती है तो उसके शरीर में खुजली भरे लाल रंग के  दाग उभर आते हैं।