2015-2016 से बजट न मिलने से सैनिक स्कूल का कार्य रुका

भारतीय सेना को 500 से अधिक फौजी अफसर देने वाले State के अकेले योद्धा स्कूल सुजानपुर टीहरा की Grant को हिमाचल प्रदेश की सरकार के द्वारा रोक दिया गया है। साल 2015 से 2016 तक कोई Grant न मिलने से इस स्कूल का कार्य बहुत मुश्किल हो गया है। इसमें हैरानी की बात है कि इस स्कूल को आरंभ किये हुए 40 साल हो चुके हैं, लेकिन आज तक इस स्कूल की जमीन सैनिक स्कूल प्रशासन के नाम तक नहीं हुई।

प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के द्वारा रखी गई थी इस स्कूल की नीव

इसी बर्ष रक्षा मंत्रालय ने यह निर्णय लिया था कि देश के सभी सैनिक स्कूलों में बच्चियों को भी प्रवेश दिया जाएगा, लेकिन मौलिक ढांचे की कमी के चलते सैनिक स्कूल सुजानपुर प्रशासन ने रक्षा मंत्रालय को बच्चियों की एडमिशन करने में अक्षमता जता दी है, जिसके कारण नए सत्र से यहां बच्चियों का दाखिला नहीं हो पाएगा। साल 1974 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के द्वारा इस स्कूल की नीव को रखी गई थी।

प्रधानाचार्य स्कूल जमीन को लेकर मुख्यमंत्री से केंद्रीय राज्य मंत्री से कर चुके मुलाकात

2 नवंबर, 1978 को तत्कालीन भारत के राष्ट्रपति नीलम संजीवा रेड्डी के द्वारा इस स्कूल का आरंभ किया गया। देशभर में अभी तक केवल 31 सैनिक स्कूल चल रहे हैं। सैनिक स्कूल के प्रधानाचार्य कैप्टन एके पॉल ने बताया कि वह Grant और स्कूल जमीन के मामले को लेकर मुख्यमंत्री से लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री तक से मुलाकात कर चुके हैं, लेकिन आज तक उनको कोई भी जवाब नहीं मिला।

रक्षा मंत्री ने 18 अक्तूबर, 2019 को सैनिक स्कूलों में बच्चियों के दाखिले को दी थी मंजूरी

रक्षा मंत्री ने 18 अक्तूबर, 2019 को देश भर के सैनिक स्कूलों में बच्चियों के दाखिले को लेकर मंजूरी दी थी। 2 बर्ष पहले मिजोरम के सैनिक स्कूल में पायलट आधार पर बच्चियों के दाखिले की सफलता के बाद रक्षा मंत्रालय द्वारा यह निर्णय लिया गया था।

छात्र पर हर साल 1.10 लाख रुपये तक का खर्चा

हिमाचल सरकार सैनिक स्कूल में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले हिमाचली परिवारों के बच्चों को हर साल प्रति छात्र 15 से 18000 रुपये छात्रवृत्ति, एनसीसी के अच्छे संचालन के लिए 5 लाख रुपये, आहार के लिए 2950 रुपये एवं यूनिफार्म के लिए 1500 रुपये प्रति छात्र अनुदान देती थी। प्रत्येक छात्र पर हर साल 1.10 लाख रुपये तक का खर्चा आता है।

सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 5 जनवरी, 2020 को होगी

सैनिक स्कूल सुजानपुर के प्रधानाचार्य ने बताया है कि 6th एवं 9th कक्षा के लड़कों की सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2019-2020 अगली 5 जनवरी, 2020 रविवार को होगी। छात्र अपने प्रवेश पत्र को सैनिक स्कूल की वेबसाइट पर देख सकते हैं। यह परीक्षा जिला हमीरपुर स्थित सैनिक स्कूल सुजानपुर टीहरा के साथ प्रदेश के अन्य जिलों कांगड़ा, मंडी, शिमला, ऊना, चंबा, सिरमौर एवं बिलासपुर में होगी।