राजधानी शिमला में स्तिथ श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर हिन्दुओं का धार्मिक स्थल, Sri Sankat Mochan Hanuman Temple Shimla in Hindi

Sankat_Mochan_72

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में स्तिथ यह मंदिर श्री हनुमान जी को समर्पित है। यह मंदिर शिमला में स्तिथ सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षणों में से एक है। यह धार्मिक मंदिर हिमाचल प्रदेश के हरे-भरे और शांत स्थानीय लोगों के बीच स्थित है। हर साल देश विदेश से यहां श्रदालु दर्शन के लिए आते है। यह मंदिर पूरी तरह से प्राकृतिक सौंदर्य से भरा हुआ है। यहां का वातावरण बेहद शांत और सुखद है। यह स्थान ध्यान के लिए एक आदर्श स्थान माना जाता है।

पवित्र और धार्मिक पर्यटन स्थल, Holy and religious tourist place

शिमला में बहुत से धार्मिक स्थान है जिन में से हनुमान जी के जाखू मंदिर के बाद यह दूसरा सबसे लोकप्रिय पवित्र और धार्मिक पर्यटन स्थल है। इस मंदिर का निर्माण वर्ष 1950 में स्थापित किया गया था। इस मंदिर के निर्माण का श्रर्य प्रसिद्ध धार्मिक व्यक्ति-बाबा नीब करोरी जी महाराज को जाता है। इन के द्वारा की गई एक पहल का परिणाम था यह मंदिर। बाबा नीब करोरी जी इस जगह की सुंदरता से चकित था। उसे यह स्थान बहुत ही अच्छा लगा था। जिस कारण उन्हें इस मंदिर के निर्माण का ख्याल आया।

Sankat_Mochan_08

इस धार्मिक मंदिर के संस्थापक, Founder of this religious temple

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार बाबा नीब करोरी जी दस दिनों तक गहरे अंधेरे जंगलो में रहे उन्हें मंदिर की स्थापना के लिए स्थान नहीं मिल पा रहा था क्युकी चारो तरफ प्रकृति का सौंदर्य फैला हुआ था। उस समय उन्होंने इस स्थान में एक हिंदू मंदिर स्थापित करने का फैसला किया। इस धार्मिक और लोकप्रिय मंदिर में भगवान राम, भगवान शिव और हनुमान के देवताओं का निवास है। बाबा नीब करोरी जी के वफादार भक्तों में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल भी शामिल थे। जिन्होंने भगवान सहाय के साथ मिलकर मंदिर बनाने और अपने गुरु की इच्छा को पूरा करने का कार्य किया। यह मंदिर 21 जून 1966 को संरक्षित किया गया।

गरीबो और असहाय लोगो की सहायता

इस मंदिर परिसर में एक तीन मंजिला इमारत भी शामिल है। जिसका एक भाग लैंगर और प्रसाद हॉल के लिए प्रयोग किया जाता है। इमारत के बाकी हिस्सों को गरीबो और असहाय लोगो को मामूली शुल्क के लिए मैरिज हॉल के रूप में दिया जाता है। संकट मोचन मंदिर में मनाए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण त्योहार रामनवमी, हनुमान जयंती और दशहरा शामिल है।

Sankat_Mocha_09

मंदिर की दुरी साधन और समय, Distance and time of the temple

यह मंदिर राजधानी शिमला रेलवे स्टेशन से 6 किमी की दूरी पर और शिमला ओल्ड बस स्टैंड से मंदिर की दुरी 7 किमी की दूरी पर स्तिथ है। यह धार्मिक स्थान श्री संकट मोचन मंदिर कालका शिमला राष्ट्रीय राजमार्ग 22 पर तारादेवी में स्थित है। इस मंदिर की ऊंचाई 975 मीटर है। यहां पहुंचने के लिए आप Cab / ऑटो या बस ले सकते है। मंदिर में दर्शन करने के लिए समय: सर्दियों में सुबह 7 से शाम 6:30 और शाम को 6:30 से 8 बजे तक का है।