“सुभाष बावली” डलहौजी, Subhash Baoli Dalhousie in Hindi

हिमाचल प्रदेश के चम्बा जिले में स्तिथ यह एक प्रसिद्ध पर्टयक स्थान है। जो अपने शांत वातावरण के लिए पुरे देश भर में जाना जाता है। इस स्थान का नाम प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखा गया था। इस स्थान में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते है। एक बारहमासी वसंत है। माना जाता है की सुभाष चंद्र बोस अपने बीमार स्वास्थ्य के स्वतंत्रता सेनानी को इस स्थान में ला के ठीक किया है। यहां की शुद्ध हवा और वातावरण बहुत ही सुखद है। जो पर्टयकों को अपनी और आकर्षित करता है।

subhas01

यहां पाए जाते है औषधीय गुण, Medicinal properties are found here

इस प्रकृति के सौंदर्य से भरपूर स्थान से बर्फ से लतपत चोटियों का दृश्य बहुत ही खूबसूरत नजर आता है। सैलानियों यहां प्राकृतिक सुंदरता को निहारने के लिए और प्रकृति की बिच अपना समय व्यतीत करने के लिए आते है। इस स्थान को स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि देने के रूप में जाना जाता है। इस स्थान में बहुत से अद्भुत दृश्य भी मौजूद है। यहां स्तिथ प्राकृतिक झरने और जलधाराएं इस स्थान को और ज्यादा खूबसूरत बनाती है।

subhas03

सुभाष बावली आने का सही समय और दुरी, Right time to visit Subhash Baoli

कहा जाता है की सेनानी सुभाष चंद्र बोस 1937 में अपने गिरते स्‍वास्‍थ्‍य के कारण आएं थे और उन्होंने यहां 7 महीने तक निवास किया था। ताकि वो इन सुंदर वादियों में रह के जल्‍द ठीक हो सकें। यहां के झरने में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते है जो विभिन्न प्रकार की बीमारियों से हमे बचाता है।

subhas02

यह स्थान सुंदर जंगलों और ताजे पानी के स्‍त्रोतों से भरा हुआ है। जिस कारण हर साल बहुत से सैलानी यहां गुमने के लिए आते है। आप इस स्थान में साल के किसी भी महीने आ सकते हो। और इस स्थान में अपना समय व्यतीत क्र सकते हो। यह स्थान डलहौजी में गांधी चौक से केवल 1 किमी की दूर पर स्थित है।