विधानसभा का तीसरा शीत सत्र धर्मशाला के तपोवन से शुरू

जयराम सरकार के सत्तासीन होने के बाद हिमाचल प्रदेश विधानसभा का 3rd शीत सत्र सोमवार से धर्मशाला के तपोवन में दोपहर दो 2 बजे से आरम्भ होगा। 6 दिन चलने वाले दौरे के पहले दिन का आरम्भ पूर्व विधानसभा सदस्य जय कृष्ण शर्मा, बिक्रम सिंह कटोच एवं राम रतन पटाकू के निधन पर शोकसभा से होगी। इसके बाद स्थगित एवं सोमवार के लिए निर्धारित तारांकित व अतारांकित सवालों पर सरकार सदस्यों को जवाब देगी।

पूर्व मुख्यमंत्री के गुड़िया मामले में आए बयान के बाद विपक्ष के लिए होगा मुद्दा

मुख्यमंत्री एवं अन्य मंत्री जरूरी दस्तावेज सभा पटल पर ही रखेंगे। उद्योग मंत्री एक फर्मान भी सदन में पेश करेंगे। 3 विधायक विभिन्न नियमों के तहत कुछ विषयों पर सरकार का ध्यान Attracted करेंगे। जब कि कई ऐसे मुद्दे हैं, जिन पर पहला ही दिन तप सकता है। प्याज के दामों पर दौरे से 1 दिन पहले नियंत्रण, महंगाई; गुड़िया दुष्कर्म एवं हत्याकांड, तपोवन सड़क, शिक्षा स्वास्थ्य व इन्वेस्टर्स मीट पर विपक्ष द्वारा सरकार को घेरा जा सकता है। पूर्व मुख्यमंत्री के गुड़िया मामले में आए बयान के बाद विपक्ष के लिए यह एक बहुत बड़ा मुद्दा होगा।

पार्टी अब इन आरोपी अफसरों को बहाल कर दे रही नियुक्ति

यह सब इस कारण भी है क्योंकि मुख्यमंत्री शांता कुमार के अतिरिक्त हाल ही में प्रदेश सरकार ने अपने आप भी सूरज हत्याकांड के आरोपी अधिकारियों को बहाल कर नियुक्ति प्रदान कर दी है। विपक्ष इस बात पर सरकार को घेरे में ले सकता है कि वह विपक्ष में रहने के दौरान जिस Issues का राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश में जुटी थी, वही पार्टी अब इन आरोपी अफसरों को बहाल कर नियुक्ति दे रही है। इस दौरे में शामिल होने के लिए सरकार, सत्ता पक्ष एवं विपक्ष रविवार को धर्मशाला पहुंच गए। 14 दिसंबर तक चलने वाले इस दौरे मेें 12 दिसंबर को गैर सरकारी सदस्य दिवस होगा।

अनेक मुद्दों के सवालों पर किया जा सकता है टकराव

प्रश्नकाल में1st questions कांग्रेस विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू का होगा, जिसमें उन्होंने गैर सरकारी संस्थाओं को भूमि आवंटित करने का ब्योरा मांगा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस सवाल के बहाने हिमाचल को बेचने का आरोप लगाकर सरकार को घेरने का प्रयास विपक्ष द्वारा किया जा सकता है। इस सब के बाद भी प्रशासनिक ट्रिब्यूनल, आपदा से हुए नुकसान पर मुआवजा वितरण, निवेश जैसे अनेक मुद्दों के सवालों पर टकराव किया जा सकता है।

विभागों के खाली पदों को लेकर पक्ष एवं विपक्ष में होगी गहरी नोक-झोंक

पेयजल आपूर्ति, परिवहन, सहित विभिन्न विभागों के खाली पदों को लेकर भी पक्ष एवं विपक्ष में गहरी नोक-झोंक होगी। इस शीत सत्र में 6 बैठकों में कुल 434 तारांकित एवं अतारांकित सवाल पूछे जाएंगे। विधायकों ने 270 तारांकित और 128 अतारांकित सवालों के उत्तर मांगे हैं।

धर्मशाला व पच्छाद में विधायक बने विशाल नैहरिया एवं रीना कश्यप का 1st विधानसभा सत्र

36 स्थगित सवालों में 25 तारांकित और 11 अतारांकित सवाल हैं। विधानसभा के नियम-62 के तहत 6 और नियम-130 के तहत 13 और नियम-101 के तहत 5, नियम-134 के तहत 3 सूचनाएं प्राप्त हुईं। धर्मशाला व पच्छाद के उपचुनाव में जीतकर विधायक बने विशाल नैहरिया एवं रीना कश्यप का यह 1st विधानसभा सत्र होगा।

दौरे से पूर्व संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज और नेता मुकेश अग्निहोत्री के साथ बैठक : डॉक्टर राजीव बिंदल

इस दौरे के संचालन के लिए पक्ष एवं विपक्ष से रचनात्मक सहयोग देने का अनुरोद किया है। दौरे से पूर्व सोमवार को संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के साथ बैठक की जाएगी। डॉक्टर राजीव बिंदल