“बोधिसत्व मैत्रेय मंदिर” हिमाचल प्रदेश में स्तिथ एक अद्भुत और लोकप्रिय धार्मिक स्थल, “Bodhisattva Maitreya Temple” a wonderful and popular religious place

picture_saved(15)

बोधिसत्व मैत्रेय मंदिर हिमाचल प्रदेश के जिला लाहौल स्पीति में स्तिथ यह एक बहुत ही खूबसूरत और लोकप्रिय धार्मिक स्थल है, यह लोकप्रिय और शानदार मंदिर है, बोधिसत्व मैत्रेय मंदिर ताबो में स्थित है। यह मंदिर अपने आकर्षण और लोकप्रियता के लिए पुरे देश भर में जाना जाता है। महायान बौद्ध धर्म में एक बोधिसत्व किसी को भी संदर्भित करता है, जिसने सभी संवेदनशील प्राणियों के लाभ के लिए बुद्धत्व प्राप्त करने के लिए एक सहज इच्छा और दयालु मन उत्पन्न किया है। ताबो में ऐसे बहुत से धार्मिक स्थल है, जो अपनी लोकप्रियता के लिए देश विदेश में जाने जाते है, और हर साल बहुत से सैलानी यहां की यात्रा करते है, यहां का वातवरण बेहद शांत और मोरम है।

picture_saved(14)

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, According to mythological beliefs

ताबो शहर भारत के लोकप्रिय राज्य हिमाचल प्रदेश में स्पीति नदी के तट पर लाहौल और स्पीति जिले का एक छोटा सा स्थान है। हिमाचल प्रदेश में स्तिथ स्पीति के उप-विभागीय मुख्यालय रेकोंग पियो और काजा के बीच शहर सड़क पर स्थित है। यह शहर एक बौद्ध मठ के चारों ओर से घिरा हुआ है, पौराणिक मान्यताओं के अनुसार यह स्थान एक हजार साल से अधिक पुराना है। बौद्ध धर्म के गुरु दलाई लामा ने ताबो के लिए संन्यास लेने की इच्छा व्यक्त की है, क्योंकि वे कहते हैं कि तबो मठ पवित्रतम में से एक है। यहां 1996 में दलाई लामा ने ताबो में कालचक्र दीक्षा प्रसिद्ध समारोह का आयोजन किया जो ताबो मठ के सहस्त्राब्दी वर्षगांठ समारोह के साथ हुआ।

picture_saved(16)

ब्याम्स- पा चेन-पो ल्हा- खांग के रूप में भी जाना जाता है, Byams – also known as Pa Chen-Po Lha- Khang

यदि आप यहां गुमने और इन धार्मिक मठो के दर्शन के लिए आना चाहते है, तो आप के लिए यहां आने का सही समय गर्मियों के दौरान का है, क्योकि सर्दियों के समय में यहां भारी मात्रा में बर्फबारी होती है। और यहां आने वाले सभी रास्ते बंद हो जाते है, बोधिसत्व मैत्रेय मंदिर जिसे ब्याम्स- पा चेन-पो ल्हा- खांग के रूप में भी जाना जाता है। मैत्रेय बुद्ध, जिन्हे हंसता हुआ बुद्ध या भविष्य के बुद्ध के रूप में भी जाना जाता है, ताशी – चुन्पो मठ और ल्हासा के पोटाला पैलेस को दर्शाते भित्ति चित्र मंदिर के आकर्षण को बढ़ाते हैं। जिस बजह से यह मंदिर यहां आये पर्टयकों को अपने और आकर्षित करता है।