चंबा जिले में स्तिथ एक लोकप्रिय धार्मिक स्थान “छतराड़ी मंदिर”, “Chhatradari Temple” is a popular religious place in Chamba district

भारत के राज्य हिमाचल प्रदेश के चम्बा जिले में स्तिथ छतराड़ी एक लोकप्रिय और प्रसिद्ध गाँव है, जिसकी दुरीचंबा से लगभग 48 किलोमीटर की है। यह गांव गद्दी जनजाति द्वारा द्वारा बसा एक ऐतिहासिक गांव है, यह गांव अपनी सांस्कृति और अपने धार्मिक मंदिरो के लिए जाना जाता है, इस गांव में बहुत से धार्मिक स्थल है, जो देश भर में लोकप्रिय है, एक ऐसा ही एक मंदिर है, जो छतराड़ी मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह धार्मिक मंदिर छत्रारी देवी मंदिर जी को समर्पित है।

Shakti_Devi_Temple_(2)

 

एक ऐतिहासिक धार्मिक स्थान, A historical religious place

यह मंदिर लोकप्रिय होने के साथ साथ बहुत ऐतिहासिक भी है। इस प्राचीन मंदिर में 8 वीं शताब्दी की एक सुंदर मूर्ति स्तिथ है, जो 4 फीट 6 इंच ऊंची एक शिल्पकार गुग्गा द्वारा अष्टधातु से बनी शक्ति की है, जो शक्ति को अपने हाथों में पकड़े एक लांस (शक्ति, ऊर्जा), एक कमल (जीवन, एक घंटी) दिखाती है, इस धार्मिक मंदिर में राजा और उनके पूर्वजों, शिल्पकार और गाँव के स्थानों के विवरण के साथ एक शिलालेख भी है।

Shakti_Devi_Temple_(4)

शांत वातावरण और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर, Quiet atmosphere and full of natural beauty

मणिमहेश यात्रा के दौरान मणिमहेश झील के तीसरे दिन हर साल मणिमहेश झील से पानी लाया जाता है, और इस मंदिर में विराजमान शक्ति की मूर्ति को पवित्र अनुष्ठानों के साथ स्नान कराया जाता है। इस लोकप्रिय गाँव में पनिहार या फव्वारे के स्लैब के साथ 36 जल स्रोत हैं, और एक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के आवास के रूप में सेडरस देवड़ा के जंगलों से घिरा हुआ है। यहां रहने वाले गद्दियों का मुख्य व्यवसाय भेड़ पालन है। यदि आप हिमाचल के इस लोकप्रिय चम्बा जिले की यात्रा के लिए आ रहे हो तो इस धार्मिक स्थान में आना ना भूले। यह बेहद शांत वातावरण और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर स्थान है।

Shakti_Devi_Temple_

शक्ति देवी मंदिर नाम से विख्यात छतराड़ी का यह मंदिर, This temple of Chhatradari known as Shakti Devi Temple

इस पवित्र मंदिर को शक्ति देवी मंदिर नाम से भी जाना जाता है। यह धार्मिक शक्ति देवी मंदिर देवदार की लकड़ी के बारह भारी स्तंभों से घिरा हुआ है। इस मंदिर के अंदर की मूर्ति मिश्र धातु से बनी है, और काफी चमकीली होने के साथ साथ यहां आये श्रदालुओ के आकर्षण का एक केंद्र भी है। पर्टयक इस मंदिर में भगवान विष्णु की छवियों को भी देख सकते हैं, जिनके सामने एक शेर और एक सूअर है, और देवी दुर्गा भैंस-दानव महिषासुर का वध कर रही हैं। यह एक बहुत ही पवित्र और धार्मिक स्थान है।

Related Posts