“डाडा सिबा मंदिर” एक ऐतिहासिक और लोकप्रिय धार्मिक स्थल, “Dada Siba Temple” historical and popular religious place in Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश में बहुत से ऐतिहासिकधर्मक स्थान है, जिन में से एक डाडा सिबा मंदिर है। यह मंदिर बेहद लोकप्रिय और धार्मिक मंदिर है, इस मंदिर का निर्माण लगभग 1830 में यहा के स्थानीय राजा राम सिंह ने करवाया था। यह मंदिर एक सुंदर वास्तुकला से निर्मित है,, जो यहां आये सैलनियो को बेहद आकर्षित करता है, यह पवित्र मंदिर कांगड़ा चित्रों से भरा हुआ है। इस मंदिर की यह मान्यता यह है, कि राजा ने इस मंदिर के निर्माण के लिए हरियाणा से प्रमुख कारीगर और जयपुर से भगवान कृष्ण और राधा की मूर्तियाँ और जोशीपुर से पत्थर लाए थे।

Dada_Siba_Temple

काँगड़ा जिले के प्रागपुर में स्थित, Located in Pragpur in Kangra district

यह लोकप्रिय मंदिर काँगड़ा जिले के प्रागपुर में स्थित है, सैलानी यहां आसानी से पहुंच सकते है, पर्टयक यहां और भी बहुत से लोकप्रिय पर्टयक स्थानों का भर्मण कर सकते है। सैलानी यहां टैक्सी या बस द्वारा यहां पहुंच सकते है। सैलानी स्थानीय परिवहन द्वारा यात्रा कर सकते हैं। यह स्थान सड़को से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

एक ऐतिहासिक स्थान, A historical place

डाडा सिबा काँगड़ा जिले में स्तिथ एक ऐतिहासिक स्थान यह स्थान पहले एक छोटा सा राज्य था। जिसका शासक वंश कांगड़ा के घर का एक वंश था। डाडा सिबा में राजा राम सिंह जिन्होंने लगभग दो सौ साल पहले इस राज्य पर शासन किया था, एक पहाड़ी की चोटी पर स्तिथ महल का स्थान और एक लकड़ी की जगह द्वारा निर्मित राधा-कृष्ण मंदिर यह दर्शाता है।

Dada_Siba_Temple(1)

इस लोकप्रिय मंदिर की दीवारें भित्ति चित्रों से ढकी हुई हैं। सैलानी यहां साल के किसी भी महीने दर्शन के लिए आ सकते है। सैलानी को मथुरा में कृष्ण के एक उत्साही अनुयायी के रूप में वार्षिक तीर्थयात्रा पर जाने से बचने के लिए राजा राम सिंह अपने डाडा सिबा मंदिर राज्य में राधा कृष्ण मंदिर का निर्माण करने के विचार के साथ आए थे। मंदिर के अंदर स्थित भित्ति सौंदर्य और भव्यता में राजा के समृद्ध स्वाद को प्रस्तुत करता है।

Related Posts