चम्बा जिले में स्तिथ एक लोकप्रिय पर्टयक स्थल “साच-पास ट्रेक”, “Saach-pass trek”, popular Pertek place in Chamba district

साच-पास ट्रेक हिमाचल प्रदेश में स्तिथ सबसे लोकप्रिय और रोमांचित ट्रेको में से एक है। यह ट्रेक जिला चम्बा जिले में पड़ता है, जो धौलाधार की मनोरम पहाड़ीयो में स्तिथ है, इस ट्रेक की ऊंचाई समुंद्रतल से लगभग 4,500 मीटर है। यह पास हिमाचल प्रदेश के सबसे पुराने व्यापार मार्गों में से एक माना जाता है। साच पास ट्रेक पांगी घाटी और चंबा के बीच एक पुल का काम करता है। हिमाचल प्रदेश में स्तिथ पांगी घाटी एक बहुत ही खूबसूरत स्थान है, जो प्रकृति के बहुत से मोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। यह स्थान हिमाचल प्रदेश में सबसे दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्र में से एक माना जाता है। हर साल बहुत से प्रकृति प्रेमी और पर्वतारोही इस ट्रेक की यात्रा के लिए आते है।

Saach_Pass_Trek(2)

अनपेक्षित प्रकृति के साथ समृद्ध ट्रेक, Rich trek with unexpected nature

साच दर्रे ट्रेक पर सैलानी बहुत से अनोखे दृश्यों को अपने कैमरे में कैद कर सकते है, जो हिमाचल प्रदेश में स्तिथ अल्पाइन ट्रेक में से एक है। साच पास ट्रेक अनपेक्षित प्रकृति के साथ समृद्ध ट्रेक है, जो कि बर्फ से घिरी पर्वतमाला में स्तिथ है, इसके साथ ही पर्टयक यहां आ कर अपनी यात्रा के दौरान यहां बसे गांव की लोकप्रिय सांस्कृति को भी जान सकते है, यहां के लोगो का पहनावा, कला, संगीत और भी बहुत कुछ आप यहां देख सकते है। यह स्थान अपनी पारंपरिक सभ्यता के लिए जाना जाता है। साच पास ट्रेकिंग ट्रेल आपको हरे-भरे परिदृश्य, बागों, बड़बड़ाती नदियों, घने जंगलों के साथ प्राचीन मंदिरों के खूबसूरत दृश्य प्रदान करता है।

Saach_Pass_Trek(3)

बर्फ से लत पत हसीन वादियों का मोरम नजारा, Views of the beautiful lovers of snow

चम्बा जिले का यह साच पास ट्रेक धर्मशाला से लगभग 270 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ है। चंबा जिले से यह ट्रेक तारिला तक जाता है। यहां से आप की दुरी लगभग 145 किलोमीटर की है, जिसे पुरा करने में 3 से 4 घंटे का समय लगता है। उसके बाद त्रैला से यह वास्तविक ट्रेक शुरू होता है, पर्टयक भानुडी के माध्यम से होता हुआ सतरुंडी की ओर जाता है, जो कि घने जंगल के बीच में बसा हुआ एक छोटा स्थान है। इस ट्रेक में सैलानीयो को पहाड़ के पास से दूर-दूर तक फैले बर्फ के पहाड़ों और कई चोटियों के शानदार दृश्य को देख सकते हैं।

Saach_Pass_Trek(4)

एक लोकप्रिय और ऐतिहासिक मार्ग, A popular and historical route

साच-पास ट्रेक भारतीय हिमालयी बेल्ट में अल्पाइन ट्रेक पर आने के लिए पर्टयकों के लिए गंभीर सुधार और फिटनेस की आवश्यकता होती है, इस ट्रेक की यात्रा करने के दौरान पर्टयक भेड़ के बच्चे, पांगी के निवासियों के लिए नमक की तरह आवश्यक आपूर्ति करते थे। ट्रेल को चंबा के राजा द्वारा पीर पंजाल में अपने क्षेत्रों के सर्वेक्षण के लिए भी प्रसिद्ध किया गया था। इस साच पास का नाम पांगी के एक गांव सच खा के नाम पर रखा गया था।

Saach_Pass_Trek

साच-पास ट्रेक आने का सही समय, Best time to visit Sach-pass trek

हिमाचल प्रदेश के जिला चम्बा में स्तिथ यह लोकप्रिय दर्रा जून-जुलाई से मध्य अक्टूबर तक खोला जाता है, यदि आप यहां आने का प्लान बना रहे है, तो यहां आने का सबसे सही समय अगस्त से सितंबर तक है। हालांकि जून में इस ट्रेक पर पर्टयक बर्फ देख सकते है। यहां सैलानीयो के लिए सितंबर का महीना सही है। क्युकी इस के बाद सर्दिया शुरू हो जाती है, जिस बजह से यहां भारी मात्रा में बर्फबारी होती है, और यहां के रास्ते भी बंद हो जाते है। यहां सर्दियों के समय में दिसम्बर से मार्च तक तापमान शून्य से नीचे चला जाता है। यदि आप को पहाड़ो की यात्रा करना पसंद है, और आप प्रकृति प्रेमी है तो यह आप के लिए एक आदर्श स्थान साबित होगा।

Related Posts