सिरमौर जिले का जैतक किला एक ऐतिहासिक पर्टयक स्थान, Jaitak Fort in Sirmour district of Himachal Pradesh is a historical place

जैतक किला हिमाचल प्रदेश में स्तिथ ऐतिहासिक लोकप्रिय स्थानों में से एक है, यह किला हिमाचल के सिरमौर जिले में नाहन के नजदीक स्तिथ है। यह लोकप्रिय जैतक किला सिरमौर जिले के नाहन से लगभग 22 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ है। इस किले की ऊंचाई समुद्रतल से लगभग 1479 मीटर की है। यह एक खूबसूरत पहाड़ी की हरियाली से भरपूर नजारों के बीच में स्थित है। इस किले के चारो और बहुत से प्राकृतिक दृश्य मौजूद है, जो बेहद आकर्षित और प्रिय होते है।

Jaitak_Fort_Nahan(2)

ऐतिहासिक जैतक किले का निर्माण, Construction of historic Jaitak Fort

जिस कारण हर साल बहुत से पर्टयक यहां गुमने के लिए आते है। यह किला अपने आसपास के क्षेत्रों के बहुत से शानदार दृश्य प्रस्तुत करता है। इस प्रसिद्ध और ऐतिहासिक जैतक किले का निर्माण 1810 में गोरखा नेता रणजोर सिंह थापा ने करवाया था। यह मान्यता है की रणजोर सिंह थापा ने अपनी सेना के साथ मिलकर नाहन किले पर आक्रमण किया था, और महल को पूरी तरह से तबाह कर दिया और जैतक किले का निर्माण करवाया था।

Jaitak_Fort_Nahan(1)

कनैतों के प्रसिद्ध जैताक वंश से मिलते है इस किले के प्रमाण, The evidence of this fort meets the famous Jaitak dynasty of Canaites

जैतक किला सिरमौर की पहाड़ियों में स्तिथ एक इतिहास स्थान है। यह वही किला है जहां गोरखाओं और ब्रिटिश सेना की बिच सबसे महत्वपूर्ण लड़ाई लड़ी गयी थी। जैतक नाम शिखर उन दो चोटियों को कहा जाता है, जो नहान से लगभग 19 किलोमीटर की दुरी पर जमटा नाहन-दादाहू सड़क पर पड़ता है। जैतक किले में पहुँचने के लिए लगभग 3 किलोमीटर की चढ़ाई चढ़नी पड़ती है। कनैतों के प्रसिद्ध जैताक वंश के इतिहास से इस गांव का नाम मिला है।

Jaitak_Fort_Nahan

Related Posts