हिमाचल प्रदेश के चम्बा जिले में स्तिथ भारत का ऐतिहासिक स्थल “भूरी सिंह संग्रहालय”, Historical site of India “Bhuri Singh Museum” in Chamba district

भूरी सिंह संग्रहालय भारत के राज्य हिमाचल प्रदेश में स्तिथ एक बभूत ही लोकप्रिय पर्टयक स्थान है, यह हिमचाल प्रदेश के चम्बा जिले में स्तिथ है, यदि आप भारतीय महाकाव्यों और ग्रंथों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए उत्साही हैं, तो भूरी सिंह संग्रहालय आपके लिए किसी स्वर्ग से काम नहीं है। मूल रूप से महाभारत और उपनिषदों के लिखित पृष्ठ दुर्लभ पीतल और तांबे के उत्कीर्ण सिक्कों और इस तरह के कलाकृतियों के अलावा यहां और भी बहुत सी ऐतिहासिक वस्तुए प्रदर्शित हैं।

Bhuri_Singh_Museum_

राजा भूरी सिंह के नाम पर पड़ा संग्रहालय का नाम, The name of the museum named after Raja Bhuri Singh

इस संग्रहालय को राजा भूरी सिंह के शासनकाल के दौरान 14 सितंबर 1908 को इस संग्रहालय का उद्घाटन किया गया था। इस का नाम केवल राजा के नाम पर रखा गया है। यह स्थान चंबा के चौगान शहर के करीब स्थित है, इस संग्रहालय को शुरू में राजा भूरी सिंह द्वारा दान में दिए गए ऐतिहासिक चित्रों और वस्तुओ के साथ शुरू किया गया था। समय के साथ साथ इसका संग्रह और साथ ही इसकी लोकप्रियता बढ़ती गई, और आज, यह हिमाचल प्रदेश के प्रमुख आकर्षणों में से एक है। जहां हर साल बहुत से सैलानी गुमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है।

Bhuri_Singh_Museum

इस संग्रहालय में शिलालेखों, लघु चित्रों और भित्तिचित्रों के साथ नक्काशीदार दरवाजे भी शामिल हैं, The museum also contains carved doors with inscriptions, miniatures and frescoes

इस संग्रहालय के समृद्ध संग्रह में चंबा के मध्ययुगीन इतिहास पर पुराने महलों, लघु चित्रों, शीर्षक कर्मों, भित्तिचित्रों, तांबे की प्लेट अनुदान, और शिलालेखों से नक्काशीदार दरवाजे भी शामिल हैं। ऐतिहासिक जानकारी के अनुसार भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग में काम करने वाले एक वैज्ञानिक “जे फोगेल” ने चंबा जिले की यात्रा की और चम्बा घाटी में बिखरे कई पुराने शिलालेखों की खोज की, जो अब भूरी सिंह संग्रहालय में प्रदर्शित किये गए हैं। इनमें से अधिकांश शिलालेख, जैसे सराहन, देवी-री-कोठी और मूल किहार के प्रसंग सारदा लिपि में हैं, जो चंबा घाटी के मध्ययुगीन इतिहास के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं को सामने लाते हैं। इनके साथ ही पर्टयक बसोहली स्कूल से संबंधित चित्रों और भागवत आउराना और रामायण के दृश्यों का चित्रण भी इस संग्रहालय में देख सकते हैं।

Bhuri_Singh_Museum(3)

इस संग्रहालय में प्राचीनतम वस्तुए स्तिथ है, The oldest objects in this museum are

भूरी सिंह संग्रहालय में गुलेर-कांगड़ा स्कूल के लोकप्रिय चित्र कृष्ण उषा-अनिरुद्ध आदि की पौराणिक कहानियों के दृश्यों के साथ-साथ कुछ अन्य खूबसूरत और शानदार चित्र भी स्तिथ हैं। इस संग्रहालय की प्राचीनता में संगीत वाद्ययंत्र, सजावटी सामान, हथियार सिक्के, शाही वेशभूषा, क्षेत्र के गहने और कवच आदि शामिल हैं। यदि आप हिमाचल प्रदेश में स्तिथ चंबा के इतिहास और संस्कृति को समझना चाहते हैं, तो इस संग्रहालय की एक बार यात्रा एक जरूर करे।

Related Posts