दो जिलों को जोड़ने वाला अद्भुत पर्टयन स्थल “इन्द्रहार-पास” ट्रेक, “Indrahar-Pass” trek is a wonderful tourist destination connecting two districts

Indrahar_Pass_Trek(2)

इन्द्रहार-पास ट्रेक हिमाचल प्रदेश में स्तिथ एक लोकप्रिय पर्टयक स्थानों में से एक है, जो हिमाचल प्रदेश में स्तिथ सबसे अद्भुत और रोमांचित ट्रेको में से है, इस पास की ख़ास बात यह है की यह चम्बा और काँगड़ा जिले को आपस में जोड़ता है, यह ट्रेक धौलाधार की अद्भुत पहाड़ियों का खूबसूरत दृश्य प्रदान करता है, यह ट्रेक अपनी लोकप्रियता के लिए देश भर में जाना जाता है, हर साल बहुत से प्रकति प्रेमी और पर्वतआरोही यहां ट्रेक करने के लिए आते है। इस खूबसूरत इन्द्रहार-पास ट्रेक खूबसूरत घने जंगलो से होकर गुजरता है, इस पास की ऊंचाई समुंद्रतल से लगभग 4350 मिटर है। जो प्रकृति के बहुत से खूबसूरत दृश्यो को प्रदर्शित करता है।

Indrahar_Pass_Trek

धौलाधर की पहाड़ियों के बीच में स्तिथ एक अद्भुत और रोमांचित ट्रेक, A wonderful and thrilling trek between the hills of Dhauladhar

इस ट्रेक के लिए चम्बा और काँगड़ा दोनों तरफ से रास्ता है, यदि आप काँगड़ा जिले से इस ट्रेक की शुरआत करते हो तो आप को इंद्रहार पास तक पहुंचने के लिए यह 4 से 5 दिनों का समय लग जायेगा। हिमाचल प्रदेश में स्तिथ एक कठिन ट्रेको में से एक है, इस ट्रेक की कुल दुरी 23 किलोमीटर के आसपास की है। इंद्रहार पास ट्रेक हिमाचल प्रदेश की धौलाधर की पहाड़ियों के बीच में स्तिथ एक बहुत ही प्यारा ट्रेक है। इस ट्रेकिंग के दौरान ट्रेकर्स हिमाचल की खूबसूरती को बखूबी देख सकते है। आप ऊंचाई पर जाकर नीचे हिमाचली गांवों की खूबसूरती और आकर्षक दृश्यों की झलक को देख सकेंगे।

Indrahar_Pass_Trek(3)

मैक्लोडगंज से इंद्रहार ट्रेक तक की दुरी और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी, Distance and other important information from McLeodganj to Indrahar trek

हर साल बहुत से सैलानी इस ट्रेक की यात्रा के लिए आते है, इंद्रहार ट्रेक धमर्शाला में स्तिथ प्रसिद्ध पर्टयन स्थान मैक्लोडगंज से शुरू होता है, यहां से पर्टयक “धर्मकोट” तक टैक्सी या पैदल पहुंच सकते है, जिसकी दुरी केवल 2 किलोमीटर की है, इसके बाद पर्टयक धर्मकोट से “ग्लू देवी” मंदिर तक भी टैक्सी या पैदल पहुंच सकते है, यह रास्ता थोड़ा श्रतिग्रस्त है, ज्यादा तर सैलानी यहां से ग्लू मंदिर तक भी पैदल यात्रा करते है, जो लगभग 2 किलोमीटर की ही दुरी पर है, जो घने और खूबसूरत जंगलो से होकर गुजरता है।

Indrahar_Pass_Trek(1)

इंद्रहार ट्रेक की दुरी और समय, Distance and timing of Indrahar trek

यहां आये पर्टयक ग्लू मंदिर से “त्रिउंड” के लिए निकलते है जिसकी दुरी लगभग 7 किलोमीटर की है। त्रिउंड एक बहुत ही लोकप्रिय पर्टयन स्थानों में से एक है, इन्द्रहार-पास ट्रेक त्रिउंड से होकर गुजरता है। त्रिउंड में बहुत सी कैंप साइड्स है, जहां आप रुक सकते है, यहां हिमाचल प्रदेश वन विभाग का एक गेस्ट हॉउस भी स्तिथ है।

Indrahar_Pass_Trek(5)

त्रिउंड में “Katoch Eco Camp ” एक प्रसिद्ध और लोकप्रिय कैंप साइड्स है, जहां आप रुक सकते है,पर्टयक त्रिउंड से “लाका ग्लेशियर” के लिए ट्रेक करते है, जिस की दुरी लगभग 5 किलोमीटर की है, लाका ग्लेशियर से इन्द्रहार पास ट्रेक शुरू होता है, जिसकी दुरी लगभग 7 किलोमीटर की है। इंद्रहार पहुंच के आप अपने आप को आसमान में पाओगे। बादल नीचे और आप सव्य को बादलो के ऊपर पाओगे।

Indrahar_Pass_Trek(4)

इंद्रहार आने का सही समय, Best time to visit Indrahar

हिमाचल के काँगड़ा के प्रसिद्ध स्थान मैक्लोडगंज और धर्मशाला के आसपास बहुत से कई छोटे ट्रेक्स स्तिथ हैं, यह ट्रेक बेहद रोमांचित और लोकप्रिय ट्रेक है। जो यहां आये सैलानीयो को बेहद आकर्षित करते है, इंद्रहार ट्रेक आने का सही समय मई से अगस्त के बिच का है, इस दौरान यहां की यात्रा सुरम्य हो जाती हैं, सर्दियों के समय में यहां भारी मात्रा में बर्फबारी होती है, जिस बजह से यह ट्रेक बंद हो जाता है। यदि आप हिमाचल में ट्रेकिंग का प्लान बना रहे है, तो आप के लिए इंद्रहार ट्रेक एक बहुत ही अच्छा विकल्प है।