“कुनिहार घाटी” हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में स्तिथ लोकप्रिय पर्टयक स्थान, “Kunihar Valley” is a popular Pertek place in Solan district

Kunihar_Valley(1)

हिमाचल प्रदेश में अरकी में स्थित कुनिहार घाटी सोलन के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। इस लोकप्रिय हटकोट और छोटी विलायत के नाम से यह विख्यात इस स्थान का नाम कुनिहार भारत के पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गाँधी ने रखा था। इस घाटी का नाम इसके आकार की बजह से रखा गया था। इस घाटी की खोज सन 1154 में जम्मू प्रान्त के रघुवंशी राजपूत अभोज देव द्वारा की गई। इस स्थान में बहुत से धार्मिक स्थान है। जो पर्टयकों को अपनी और आकर्षित करती है। यह घाटी श्री देवी मंदिर और श्री दानो देवता मंदिर देखने का अवसर भी प्रदान करती है, जो जकुलजा देवी और दानो देवता को समर्पित हैं।

Kunihar_Valley(2)

सैलानियों का पसंदीदा स्थान, Favorite place of tourists

हिमाचल प्रदेश अपने आकर्षक शांत मौसम और हरी-भरी पहाड़ियाँ, चकाचौंध खूबसूरत झीलें, सुखदायक नदियाँ और मनमोहक दृश्यों के लिए देश भर में जाना जाता है। हिमाचल प्रदेश को सैलानी गर्मियों के सबसे पसंदीदा स्थानों में से एक माना जाता है। यह स्थान प्रकृति प्रेमियों और हनीमून मनाने वालों के लिए एक पसंदीदा केंद्र माना जाता है। यदि आप यहां की पहाड़ी राज्य में इतिहास की तलाश कर रहे हैं तो आप के लिए एक जगह है जो आप को अवश्य ही बहुत सी ऐतिहासिक जानकारी प्राप्त करवाएगी। इस घाटी व शहर का नाम कुनिहार है।

Kunihar_Valley(3)

तकुर्दिया’ गांव तक फैली हुई है यह लोकप्रिय घाटी, This popular valley extends to the village of Takurdia

कुनिहार घाटी में सैलानियों के लिए अन्य प्रमुख आकर्षण कुनिहार तालाब भी है। कुनिहार घाटी राजधानी शिमला से पश्चिम की ओर 50 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है। इस घाटी की ऊंचाई समुद्रतल से लगभग 100 मीटर की है। यह घाटी ‘कुणी खड्ड’ से ‘तकुर्दिया’ गांव तक फैली हुई है। हिमाचल के अस्तित्व में आने से पूर्व यह घाटी कुनिहार रियासत का अभिन्न अंग मानी जाती थी।

Kunihar_Valley

कुनिहार आने का सही समय, Best time to visit Kunihar

हिमाचल प्रदेश के इस कुनिहार घाटी में आप साल के किसी भी महीने आ सकते है, यह स्थान आप को पूरे वर्ष एक सुखद वातावरण और अनुकूल जलवायु बनाए रखता है, इस लोकप्रिय घाटी में बहुत से ऐतिहासिक स्थान है जो आप को बेहद रोमांचित करेंगे। इस घाटी में बहुत से प्राकृतिक सौंदर्य आप को प्रकृति में होने का एहसास दिलाएगा।