किन्नौर जिले में स्तिथ “लिपा असंग अभयारण्य”, “Lipa Asanga Sanctuary” Kinnaur district of Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश एक पहाड़ी राज्य है, जहां बहुत सी पर्वत श्रृंगला है, जो घने जंगलो से घिरी हुई है, इन जंगलो में बहुत से हिमालयी जिव जंतु पाए जाते है, जिन की सुरक्षा के लिए हिमाचल प्रदेश में बहुत से अभ्यारण्य बनाये गए है, एक ऐसा ही एक स्थान किन्नौर जिले में स्तिथ है, जिसे लिपा असंग वन्यजीव अभयारण्य के नाम से जाना जाता है। एक बहुत लोकप्रिय पर्टयक स्थान है। किन्नौर जिले की यात्रा के दौरान आप यहां की यात्रा कर सकते है। यह एक बेहद रोमांचित स्थान है। लिपा असंग वन्यजीव अभयारण्य “मौरंग” शहर के निकट स्थित है।

picture_saved

ठंडे-रेगिस्तान में स्तिथ यह अभ्यारण्य, This sanctuary located in a cold desert

किन्नौर में स्तिथ यह अभ्यारण्य लगभग 31 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है, इस लोकप्रिय अभयारण्य को 1974 में राज्य के राजस्व रिकॉर्ड में अधिसूचित किया गया था। यह लोकप्रिय अभ्यारण्य बर्फ से ढकी पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यह अभयारण्य व्यस्त शहर के जीवन की हलचल से दूर पर्टयकों को एक शांत अनुभव प्रदान करता है। यह पृथ्वी पर एकांत और प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग है। इस अभ्यारण्य का क्षेत्र एक ठंडा रेगिस्तान है। अभयारण्य में विभिन्न प्रकार की वनस्पतिया पाई जाती है, जिन में पश्चिमी हिमालयी समशीतोष्ण, शुष्क कोनिफ़र, बौना जुनिपर स्क्रब, सूखा अल्पाइन स्क्रब, और सूखे व्यापक पेड़ शामिल हैं।

picture_saved(2)

“लिपा असंग अभयारण्य” में पाई जाने वाले प्रजातियां, Species found in “Lipa Asanga Sanctuary”

यहां पाए जाने वाली प्रजातीयो की किस्मो में जीवों की विभिन्न प्रकार की प्रजातियां पाई जाती है, जिन में ब्लू शीप, तेंदुए, हिमालयन इबेक्स, मस्कडीयर, गोरल्स और येल शामिल हैं। किन्नौर जिले में स्तिथ यह लिपा-असरंग अभयारण्य में बड़ी संख्या में जंगली जानवरों को आश्रय प्रदान करता है। इस अभयारण्य में जानवरों की कुछ खतरनाक प्रजातियों को संरक्षित किया गया है। जिसमें ब्राउन भालू, तेंदुआ, कस्तूरी मृग, गोरल, इबेक्स और हिमालयन स्नोकॉक और हिमालयन मोनाल जैसे पक्षी शामिल हैं। याक, ब्लू शीप और हिमालयन ब्लैक बियर कई अन्य वन्य प्राणियों में से कुछ हैं जो लिपा-असंग अभयारण्य के परिसर के अंदर रहते हैं।

picture_saved(3)

लिपा असंग अभयारण्य की यात्रा करने का सही समय, Best time to visit Lipa Asanga Sanctuary

यदि आप किन्नौर में स्तिथ इस अभयारण्य का दौरा करने का सोच रहे है, या प्लान कर रहे है, तो आप लकेलिए यहां आने का सही समय और मौसम अप्रैल से अक्टूबर तक का है। इस अभयारण्य क्षेत्र के आसपास ठहरने के विकल्प नहीं हैं, लेकिन कोई भी उचित आवास विकल्प पा सकता है। इस अभयारण्य का दौरा गर्मियों के दौरान का सही है, इस दौरान आप इस स्थान को ठीक से निहार सकते है। सर्दियों के समय यहां बर्फबारी के दौरान इस अभ्यारण के रास्ते और आस पास का क्षेत्र बर्फ से जम जाता है। सर्दियाँ में यात्रा करना कठिन हो जाता है, इस क्षेत्र की हड्डियों की सर्दियाँ से निपटने के लिए पर्याप्त रूप से तैयार होना चाहिए।

Related Posts