बिलासपुर जिले में स्तिथ मानव निर्मित “गोबिंद सागर झील”, Man-made “Gobind Sagar Lake” in Bilaspur district

Gobind_Sagar_Lake(2)

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ यह झील सतलुज नदी पर बनाई गयी है, गोबिंद सागर एक मानव निर्मित झील है इस झील का नाम दसवें सिख गुरु, गुरु गोविंद सिंह के सम्मान में रखा गया है। इस झील से खूबसूरत पहाड़ियों और मैदानी इलाकों का बेहतर प्राकृतिक दृश्य देखने को मिलता है। यह झील भाखड़ा बांध द्वारा निर्मित हुई है। जो दुनिया के सबसे ऊँचे गुरुत्वाकर्षण वाले बाँधों में से एक है। यह बाँध 1963 में निर्मित हुआ था, भाखड़ा बांध इंजीनियरिंग के एक प्रतिष्ठित और अद्भुत चमत्कार के रूप में खड़ा है।

Gobind_Sagar_Lake(1)

प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर यह लोकप्रिय झील, This popular lake full of natural beauty

इस बहुउद्देशीय बांध ने एक शक्तिशाली कृत्रिम झील को जन्म दिया है, जिसे गोबिंद सागर झील के नाम से जाना जाता है। इस झील में 170 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को शामिल किया गया है, यह तकरीबन 90 किलोमीटर लंबा है। इसके साथ ही यह झील हिमालय पर्वतमाला के निकटता होने के कारण, यह झील हरे-भरे हरियाली और हर मोड़ पर शांति की आभा से घिरा हुआ है।

Gobind_Sagar_Lake(3)

देश का तीसरा सबसे बड़ा जलाशय, Country’s third largest reservoir

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ यह गोबिंद सागर झील देश का तीसरा सबसे बड़ा जलाशय माना जाता है, इस झील के द्वारा हिमाचल प्रदेश और कई अन्य राज्यों जैसे राजस्थान, हरियाणा और पंजाब को10 मिलियन एकड़ से अधिक सिंचाई के लिए लाखों क्यूबिक टन पानी उपलब्ध करवाया जाता है।

Gobind_Sagar_Lake(4)

इस बुलंद बांध या आसपास के ऊंचाई वाले क्षेत्रों से कृत्रिम झील के बहुत से दृश्य मंत्रमुग्ध कर देने योग्य हैं। यह झील मनोरंजक गतिविधियों जैसे कि पानी के खेल और पिकनिक के लिए और प्राकृतिक सुंदरता के लिए बहुत ही लोकप्रिय मानी जाती है।

सैलानीयो का पसदींदा स्थान, Tourist destination

हर साल भारी बड़ी संख्या में पर्यटक अक्सर यहां गुमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है। यह झील अपनी सुंदरता और सुखद वातावरण के लिए बहुत से सैलानियों को अपनी और आकर्षित करती है। इस झील में वाटर स्कीइंग,नौकायन, कयाकिंग और पानी स्कूटर रेसिंग जैसे रोमांचित खेल खेले जाते है।

Gobind_Sagar_Lake