किन्नौर में स्तिथ “नारायण नागिनी मंदिर” एक धार्मिक तीर्थस्थल, Narayan Nagini Temple – Kinnaur, Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश में बहुत से लोकप्रिय ऐतिहसिक और लोकप्रिय धार्मिक स्थान है, जो अपनी-अपनी लोकप्रियता के लिए जाने जाते है। कुछ ऐसा ही एक स्थान है, हिमाचल के किन्नौर जिले में जो हिमाचल में स्तिथ लोकप्रिय पर्टयक स्थानों में से एक है। जिसे नारायण नागिनी मंदिर नाम से जाना जाता है। यह धार्मिक स्थान किन्नौर जिले के चीनी गाँव की एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। यह लोकप्रिय धार्मिक मंदिर हू-ब्यू-लैन-कार मठ के काफी करीब स्थित है।

picture_saved(43)

तकरीबन 5000 वर्ष पुराना मंदिर, Nearly 5000 years old temple

इस मंदिर की ख़ास बात यह है, यह मंदिर तकरीबन 5000 वर्ष पुराना माना जाता है, जो महाभारत की भारतीय पौराणिक कथाओं को काफी महत्व देता है। स्थानीय मान्यताओं के अनुसार किन्नौर के अधिकांश अन्य गांवों की तरह, हिंदू धर्म का बौद्ध धर्म के साथ सह अस्तित्व था। कल्पा के लोग किन्नौरी की आम परंपरा के अपवाद नहीं थे। किन्नौर कैलाश बर्फ से ढके पर्वत का दृश्य याद आ रहा है। यह कल्पा में अवश्य जाना चाहिए। यह मंदिर बेहद शांत वातावरण में स्तिथ, प्रकृति के बहुत से अद्भुत और खूबसूरत दृश्य प्रदान करता है।

picture_saved(45)

किन्नौरी शैली से निर्मित यह मंदिर, This temple built in Kinnauri style

यह ऐतिहासिक मंदिर किन्नौरी शैली के मंदिर के उभारों का यह विशिष्ट संग्रह कल्पा किले के पीछे स्थित है। यह धार्मिक मंदिर मुख्य रूप से माँ दुर्गा को समर्पित है, बाघों की भोली मूर्तियों (दुर्गा के वाहनों में से एक) की दृढ़ता से विशेषता है, हालांकि ड्रैगन नक्काशी इस क्षेत्र में मजबूत तिब्बती प्रभाव का सबूत है। हर साल बहुत से श्रदालु यहां दर्शन के लिए आते है।

Related Posts