लाहौल वासियो को मिली राहत इस बार एक महीना पहले खुल सकता है रोहतांग पास दर्रा

ezgif.com-gif-maker(85)

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ कुल्लू और लाहौल स्पीति को जोड़ने वाला रोहतांग दर्रा मनाली-लेह मार्ग में स्तिथ है। यहां से बर्फ हटाने का कार्य राहलाफाल और दारचा में लगभग तीन दिन पहले शुरू हो चुका है। जानकारी के अनुसार तीसरी टीम 94 आरसीसी ने रविवार को सिस्सू के नर्सरी से छह किलोमीटर आगे तक रोहतांग सुरंग के नॉर्थ पोर्टल से बर्फ हटाने का काम शुरू कर दिया है। इस बार रोहतांग दर्रा एक माह पहले खुल सकता है। बदलते मौसम की बजह से इस बार यहां का मौसम में बहुत से बदलाव आये है।

94 आरसीसी उदयपुर के जवान लगे है कार्यरत

बीआरओ के 38 कृतिक बल के कमांडर कर्नल उमाशंकर द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार कहा कि बीआरओ की तीसरी टीम 94 आरसीसी उदयपुर के जवानों ने लाहौल के अधिष्ठाता राजा घेपन और देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना के बाद गुफा होटल से कोकसर की ओर बहाली के लिए मशीनो की संख्या बढ़ा दी है। जिस से लाहौल स्पीति केलोगो को बड़ी रहत मिली है। लाहौल स्पीति के लोगो के लिए यह एक मात्र सड़क मार्ग है। जो उन्हें हिमाचल के बाकी हिस्सों से जोड़ता है।

बीआरओ का 108 आरसीसी भी जुटेगा कार्य में

जैसे ही टीम कोकसर जाती है, वहा पहुंच कर वो अपना बेस कैंप लगाएगी। इसके बाद रोहतांग की ओर कदम बढ़ाएंगे। रोहतांग दर्रा का करती पुरा खुल होने ने के बाद 94 आरसीसी का दल “ग्रांफू-काजा मार्ग” बहाल करने में छोटा दड़ा तक जुटेगा। जानकारी के अनुसार इसके आगे का कार्य बीआरओ का 108 आरसीसी करेगा। उन्होंने कहा कि गत वर्ष अत्यधिक बर्फबारी से बीआरओ ने बर्फ हटाने का काम एक महीना देर से शुरू किया था।

मौसम का बदलता रुख

इस बार मौसम के बदलते रुख की बजह से यह कार्य फरवरी में ही शुरू कर दिया गया है। बीआरओ के जवानों ने मनाली से गुलाबा से आगे कुछ दुरी तक का सफर तय कर लिय है। और जल्द ही ब्यास नाला के हिमखंड को भेदकर टीम 70 मढ़ी कैंप तक पहुंच जायगी। बीआरओ का कहना हैं की वो जल्द ही कोकसर को ग्रामीण जिला मुख्यालय से जुड़ेंगे।

Lahaul residents get relief this time Rohtang Pass Pass may open a month ago