हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार बने विधानसभा के नये अध्यक्ष

ezgif.com-gif-maker(2)

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला के सुलाह के विधायक और जयराम सरकार में स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार अब विधानसभा के नए अध्यक्ष चुने गए है। इसके साथ ही डॉ। राजीव बिंदल के इस्तीफे से खाली हुई सीट को सुशोभित करेंगे। सोमवार को देर शाम भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से चर्चा के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विपिन परमार को विधानसभा के नये अध्यक्ष बनाने का यह फैसला लिया और मंगलवार को नामांकन के बाद बुधवार को परमार के चुनाव की प्रक्रिया सदन में पूरी होगी।

पहले स्वास्थ्य एवं आयुर्वेद विभाग के मंत्री थे

विपिन परमार 27 दिसंबर 2017 को पहली बार कैबिनेट मंत्री बने थे। जिस के दौरान उन्हें स्वास्थ्य एवं आयुर्वेद विभागों का जिम्मा सौंपा गया था। अब उन्हें जयराम सरकार में विधानसभा की ओर रुख करना होगा। कई दिनों की चर्चा के बाद इस बारे में फैसला नहीं हो पा रहा था। जानकारी के अनुसार इससे पहले भी तीन मंत्रियों से सरकार और संगठन के स्तर पर चर्चा हो चुकी थी। जिसके तहत स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार, शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज और डॉ। राजीव सैजल शामिल थे।

डॉ। राजीव बिंदल के स्थान में आये विपिन परमार

इस कार्यभार के लिए कोई भी विधायक आगे नहीं आ रहा था। जिस का कारण एक तो विधायकों के मन में मंत्री बनने की संभावनाएं दिख रही हैं, और दूसरी और यह मानना है, कि अध्यक्ष बनकर उनकी राजनीतिक पारी का अंत हो सकता है, खासकर जिन हालातों में डॉ। राजीव बिंदल ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया, उससे ये अंदेशा भाजपा विधायक दल में और मजबूत हुआ है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दिल्ली में की चर्चा

इसके बाद भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दिल्ली में दोबारा चर्चा की परन्तु दिल्ली में अमेरिकी राष्ट्रपति के दौरे के कारण पीएमओ में पहले से ही व्यस्तता थी। और जिस से सभी नेता व्यस्त थे, बाद में कुछ समय बाद दिल्ली से यह जानकारी मिली की विपिन परमार को ही विधानसभा अध्यक्ष बनाया जाए।\

Himachal Pradesh Health Minister Vipin Parmar becomes the new Speaker of the Assembly