हिमाचल प्रदेश पुलिस को मिली एक बड़ी कामयाबी, साइबर क्राइम के मास्टरमाइंड को लिया हिरासत में

hp

हिमाचल प्रदेश पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस ने बैंक खातों से लाखों की रकम ऐंठने वाले शातिरों चोरो को हिरासत में ले लिया है। यह शातिर लोगों से उनके बैंक खातों की डिटेल व ओटीपी लेकर ठगी करने वाले शातिरों को गिरफ्त में लेकर पुलिस के हाथ एक बड़ी कामयाबी लगी है।

जानकारी के अनुसार पुलिस ने इन शतिरों चोरो को पश्चिम बंगाल से हिरासत में लिया है। और पुलिस ने राज्य साइबर क्राइम पुलिस थाना शिमला की पुलिस टीम ने पुलिस उप अधीक्षक नरवीर राठौर के नेतृत्व मे टीम ने इन शतिरों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है।

साइबर क्राइम एक्ट के तहत दर्ज किया गया मामला

इस की मामले की रिपोर्ट शिकायतकर्ता भवन कुमार निवासी जिला मंडी की शिकायत पर पुलिस ने साइबर क्राइम एक्ट के तहत ठगी का मामला दर्ज किया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता ने अगस्त 2019 को एक एटीएम में पैसे निकालने नेरचौक गया था।

मगर (ATM) से पैसे नहीं निकले, शिकायत कर्ता ने पीएनबी के टोल-फ्री नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करवाई। और उसके अगले दिन से उसे अंजान नंबरों से फोन आया और शातिरों ने अपने आप को पीएनबी का कार्यकर्ता बताया।

24 लाख रुपए ट्रांसफर कर लिए थे

शातिर ने शिकायतकर्ता से खाता से लिंक्ड मोबाइल नंबर व डेबिट की जानकारी ली और शिकायतकर्ता ने भी अनजान व्यक्ति को अपनी साड़ी जानकारी दे दी। इस पर शिकायतकर्ता का खाता से लिंक्ड मोबाइल नंबर किसी फ्रॉडस्टर द्वारा वोडाफोन में फर्जी केवाईसी पर पोर्ट किया गया। इसके बाद मोबाइल नेट बैंकिंग द्वारा फ्रॉडस्टर ने शिकायतकर्ता के दोनों पीएनबी खातों से 24 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए।

वोडाफोन मिनी स्टोर चलाता है आरोपी

पुलिस द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार यह बताया कि शातिरों के नाम से यह जाली तौर पर खाते खोले गए हैं। बताया जा रहा है की पोर्ट हुए नंबर को विशाल कुमार पाल नामक वोडाफोन रिटेलर द्वारा जारी किया गया था।

इसके साथ ही जानकारी के अनुसार खूफिया तौर पर जानकारी मिली कि यह शख्स अपनी दुकान का नाम गलत पते पर दर्शाता है। मगर यह यह व्यक्ति गोशाला मोड़ पुरुलिया में वोडाफोन मिनी स्टोर के नाम से चलाता है। पुलिस ने वहां छापा मार कर उसे हिरासत में लिया।

34 विभिन्न कंपनियों के सिम कार्ड हुए बरामद

पुलिस को शातिरों से कब्जे में मिले पांच मोबाइल फोन व फिनो बैंक एटीएम, वोडाफोन सिम बरामद किए और वह फिनो बैंक का एजेंट पाया गया। जानकारी के अनुसार शातिर ने करीब 200 लोगों के आधार कार्ड की कॉपी मोबाइल फोन में सेव की थी। और बहुत से लोगो की जानकारी अपने पास सेव रखी थी।

आरोपी के पास कब्जे से छह मोबाइल फोन, 34 विभिन्न कंपनियों के सिम कार्ड, पांच फिनो बैंक एटीएम, दो एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड व 6500 रुपए नकद बरामद किए। गए है।

Himachal Pradesh police got a huge success, detained the mastermind of cybercrime