“भलेई माता मंदिर” हिमाचल के जिला चम्बा में स्तिथ एक लोकप्रिय धार्मिक स्थल, “Bhalei Mata Temple” a popular religious place in the district Chamba of Himachal

Bhalei_Mata_Temple(3)

वैसे तो भारत में बहुत से धार्मिक स्थल है, मगर हिमाचल प्रदेश में कुछ ऐसे धार्मिक तीर्थस्थल है, जो अपनी लोकप्रियता के लिए जाने जाते है, हर साल भारी संख्या में श्रदालु यहां दर्शन के लिए आते है, कुछ ऐसा ही एक धार्मिक स्थल है, हिमाचल प्रदेश के जिला चम्बा में जो भलेई माता मंदिर हिंदू देवी भद्र को समर्पित है। यह मंदिर भेली में समुंद्रतल से लगभग 3,800 फीट की ऊंचाई पर स्तिथ है। यह मंदिर सालूनी तहसील मुख्यालय से लगभग 35 किमी की दुरी पर स्तिथ है। यह मंदिर पवित्र होने के साथ साथ बेहद प्राचीन है, जो अपनी सुंदरता और आस्था के लिए देश भर में जाना जाता है।

Bhalei_Mata_Temple(1)

ऐतिहासिक जानकारी, historical information

यह पवित्र मंदिर चंबा शहर के भलेई में राजा प्रताप सिंह द्वारा बनवाया गया था। राजा प्रताप सिंह को इतिहास में एक धार्मिक राजा के रूप में जाना जाता है, जिस की बजह राजा द्वारा निर्मित आसपास के कई धार्मिक भवनों के निर्माण है। राजा प्रताप सिंह ने यहां बहुत से धार्मिक स्थलों का निर्माण करवाया था। मान्यता है की देवता ने राजा को सपने में दर्शन दिए और उन्हें अपनी छवि भरण नामक स्थान पर ले जाने को कहा, जो वर्तमान मंदिर स्थान से कुछ किलोमीटर की दुरी पर है।

Bhalei_Mata_Temple(2)

राजा प्रताप सिंह और उनके अधिकारियों ने इसका मंदिर बनाने के लिए छवि को चंबा ले जाने का इरादा किया। अपनी वापसी की यात्रा के दौरान राजा ने भेली में रुके लेकिन यहां की सुंदरता और जमीन से छवि को चंबा तक ले जाने में असमर्थ थे। राजा प्रताप सिंह ने इसे भेली में बने रहने के लिए देवता की इच्छा के रूप में लिया और मंदिर को उसी स्थान पर बनाया जहां छवि रखी गई थी। यहां देवता काले पत्थर की एक छवि के सामने स्तिथ है। जिसकी ऊंचाई लगभग 2 फुट ऊँचा है।

आश्विन और चैत महीनों के नवरात्रों में होता है एक भव्य हवन, A grand havan takes place during the Navratras of Ashwin and Chaitha months

इस धार्मिक मंदिर पहुंचने के लिए या तो चंबा से या डलहौजी से संपर्क किया जा सकता है, यह मंदिर चंबा से लगभग 40 किलोमीटर और डलहौजी से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है। भादर काली में बड़ी संख्या में दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं। आश्विन और चैत महीनों के नवरात्रों के दौरान एक बड़ा हवन समारोह होता है, जो बेहद पवित्र माना जाता है।

Bhalei_Mata_Temple

चम्बा गुमने आये सैलानियों के लिए यह एक आदर्श स्थान माना जाता हैं, आप यहां दर्शन के लिए साल के किसी भी महीने आ सकते हो, मान्यता है की जो भी भगत सच्चे मन से माँ के दर्शन के लिए आता है, उस की सभी मुरादे माँ पूर्ण करती है। यह मंदिर यहां के निवासियों के लिए एक अटूट आस्था और श्रदा का प्रतिक है।