हिमाचल बिजली बोर्ड ने बंद करवाया रिलायंस कंपनी का केबल बिछाने का काम

akk

रिलायंस कंपनी ने हिमाचल प्रदेश के बिजली बोर्ड से 25000 खंभे किराये पर लिए थे। जिस पर उन्होंने अपनी केवले बिछानी थी। जो जिओ नेटवर्क से सबंदित थी। रिलायंस कंपनी ने फिलहाल जियो नेटवर्क के लिए अपनी केबल बिछाने का काम कई जगह बंद कर दिया है।

जिसका कारण अमर उजाला में सुरक्षा से खिलवाड़ को लेकर खबर छपने के बाद जब बिजली बोर्ड ने फील्ड में जांच की तो बिजली कर्मचारियों ने पाया कि रिलायंस कंपनी के कर्मचारियों ने एचटी लाइन पर भी अपनी केबल बिछा दी थी।

तेज करंट से दौड़ते खंभों पर चढ़कर केबल बिछा रहे थे कंपनी के कर्मचारी

कंपनी के अधिकारी बिजली बोर्ड के अफसरों को बिना जानकारी दिए तेज करंट से दौड़ते खंभों पर चढ़कर केबल बिछा रहे थे। जिस से कुछ भी उन्होनी हो सकती थी। बिजली बोर्ड ने रिलायंस कंपनी के अधिकारियों को पत्र लिख कर सूचित किया है की वो एचटी लाइन से अपनी केबल उतार लें।

बिजली बोर्ड हिमाचल ने कहा की कंपनी के साथ सिर्फ एलटी लाइन पर ही बिजली बोर्ड के अधिकारियों की निगरानी में केबल बिछाने का समझौता हुआ है। और उनके कर्मचारी नियम का उलघन कर रहे है।

बिजली बोर्ड के खंभों पर से केबल बिछाने का कार्य हुआ बंद

कंपनी को सूचित किया गया है, की वो जल्द ही बिजली बोर्ड के खंभों पर से केबल बिछाने का काम बंद कर दे। फ़िलहाल कंपनी ने तार बिछाने का कार्य बंद कर दिया है। बिजली बोर्ड धर्मशाला में एक्सईएन विकास ठाकुर द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार माना कि फिलहाल रिलायंस कंपनी के कर्मचारी खंभों पर केबल नहीं बिछा रहे हैं।

जांच में पाया है कि कंपनी के कर्मचारियों ने एचटी लाइन के दो खंभों पर अपनी केबल बिछाई थी। कंपनी के प्रबंधन को एचटी लाइन से केबल उतारने के लिए कह दिया गया है। और कंपनी के निर्देशकों ने भी जल्द ही तार उतारे के लिए कहा है।

Himachal Electricity Board has stopped the cabling work of Reliance Company