हिमाचल प्रदेश के तीन शिक्षकों को शून्य नवाचार राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़ा गया

teacher

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिला के तीन प्राथमिक शिक्षकों को शिक्षा में शून्य नवाचार के लिए चयन किया गया है। इन शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना गया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री “डॉ। रमेश पोखरियाल” निशंक दो मार्च को इन शिक्षकों को आईआईटी दिल्ली में सम्मानित करेंगे।

राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए सम्मानित होने वाले शिक्षकों में शिक्षा खंड रामशहर के कपिल राघव, शिक्षा खंड धुंदन के दिलीप कुमार तथा शिक्षा खंड कंडाघाट की पूनम कश्यप शामिल हैं।

28 से लेकर 02 मार्च तक आयोजित होगा सम्मलेन

इस राष्ट्रीय पुरस्कार शिक्षा में शून्य नवाचार के लिए 28 फरवरी से दो मार्च तक तक श्री अरविंदो सोसायटी की ओर से दिल्ली में राष्ट्रीय शिक्षक कार्यशाला में पूरे देश के सभी राज्यों से चयनित शिक्षकों के पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। जिन में हिमाचल प्रदेश के यह तीन शिक्षक भी शामिल रहेंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रत्येक राज्य के चयनित शिक्षकों के नवाचारों से निर्मित नवाचार पुस्तिका का विमोचन भी करेंगे। इसके साथ ही राष्ट्रीय कार्यशाला में समस्त भारत के राज्यों से विभिन्न चयनित शिक्षक भाग लेंगे। प्रदेश भर में केवल तीन ही शिक्षकों को इस राष्ट्रीय पुरस्कार समेलन चयनित किया गया है।

Three teachers of Himachal Pradesh awarded Zero Innovation National Award