हिमाचल प्रदेश की लोकप्रिय अटल टनल से लोगों का आना-जाना हुआ बंद

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ लोकप्रिय पर्टयक स्थान मनाली के समारिक दृष्टि से अति महत्त्वपूर्ण अटल टनल से अब लोगों की आवाजाही नहीं हो पाएगी। जानकारी के अनुसार लाहुल से रैफर किए गए मरीजों के लिए भी टनल के द्वार नहीं खुल पाएंगे। जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की सुरंग के काम को फाइनल टच देने में जुटा हुआ है बीआरओ बताया जा रहा की यह सुरंग दो महीने नहीं खुल पाएंगे। शुक्रवार से बीआरओ अटल टनल से लोगों की अवाजाही को अगामी दो माह के लिए बंद करने जा रहा है।

अटल टनल का कार्य अब अंतिम चरण में पहुंच गया है

प्राप्त जानकरी के अनुसार जनजातीय जिला के लोगों को प्रदेश सरकार के हेलिकाप्टर सेवा पर ही निर्भर रहना पड़ेगा बताया जा रहा है की जिसको लेकर पहले ही जमकर हंगामा हो रहा है। अटल टनल के चीफ इंजीनियर केपी पुरुशोथमन के द्वारा बताया गया हुई की उन्होंने कहा कि टनल की सड़क में मेटलिंग का कार्य शुरू कर दिया गया है।

इस दौरान किसी भी तरह के वाहनों की आवाजाही टनल के भीतर नहीं हो पाएगी। उन्होंने बताया कि अटल टनल का कार्य अब अंतिम चरण में पहुंच गया है। बीआरओ शुक्रवार से अटल टनल की सड़क का मेटलिंग का कार्य शुरू करने जा रहा है। जिस बजह से करीब दो माह का समय और लगेगा। इसके अलावा टनल की सर्फेसिंग व इलेक्ट्रिक कार्य को भी इस दौरान अंजाम दिया जाना है।

अटल टनल का कार्य पूरा होते ही लाहुल-स्पीति की तस्वीर बदल जाएगी

प्राप्त जानकारी के अनुसार उन्होंने कहा कि बीआरओ ने इस संबंध में लाहुल-स्पीति व मनाली प्रशासन सहित प्रदेश सरकार को सूचित कर दिया है। बताया जा रहा है कि चार हजार करोड़ रुपए की लागत से तैयार हो रही 8।8 किलोमीटर लंबी अटल टनल के बनने के बाद जहां लाहुल-स्पीति की तस्वीर बदल जाएगी।

इसके पूरा होते ही यहा के लोगो और पर्टयकों को बहुत ही सुविधा मिल पाएगी। इसके साथ ही जनजातीय जिला का संपर्क साल भर विश्व से बना रहेगा। ऐसे में अटल टनल से आवाजाही बंद होने के बाद लोगों को अब रोहतांग दर्रे के बहाल होने का इंतजार है। उसके बाद ही वो लाहौल स्पीति पहुंच पाएंगे।

विधायक एवं कृषि मंत्री डा। रामलाल मार्कंडेय द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार

हिमाचल प्रदेश के लोकप्रिय स्थान लाहुल-स्पीति के स्थानीय विधायक एवं कृषि मंत्री डा। रामलाल मार्कंडेय द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार बीआरओ ने अटल टनल को फाइनल टच दे रहा है। इसलिए लोगों की आवाजाही टनल से बंद की गई है। हिमाचल प्रदेश सरकार से लाहुल-स्पीति के लिए हेलिकाप्टर की अधिक उड़ानें करवाने का आग्रह किया गया है। और उड़ानों की संख्या की बढ़ोतरी की गयी है।

People’s movement stopped from Himachal Pradesh’s popular Atal Tunnel

Related Posts