अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव में भोले के प्रसाद के लिए भी भेदभाव

mandi

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी जिसे छोटी काशी के नाम से जाना जाता है। यहां आयोजित अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के दौरान दानी सज्जनों द्वारा हजारों देवलुओं व आम लोगों को परोसी जा रही धाम में जातीय भेदभाव के आरोप लगे हैं। बताया जा रहा है। प्राप्त जानकरी के अनुसार शिवरात्रि मेला समापन से एक दिन पूर्व ही यू-ब्लॉक में धाम के दौरान इसको लेकर हंगामा भी हुआ। यहा दो धर्म क लोग आपस में झपड़ पड़े।

पूछताछ के दौरान दो युवको को हिरासत में ले लिया

बताया जा रहा है की समारोह के दौरान कुछ लोगों में कहासुनी हो गयी। इस मामले में शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने दो लोगों को पूछताछ के दौरान हिरासत में ले लिया। एसपी मंडी गुरदेव शर्मा ने मामले की जांच के निर्देश दे दिए है। वहीं इतने बड़े आयोजन के बीच सार्वजनिक स्थल पर इस तरह का मामला सामने आने पर दलित, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक मंच भड़क गया है।

बताया जा रहा है, की इस मामले की बजह से सभी दलित, पिछड़ा वर्ग के के लोगो में आक्रोश फेल गया है। समारोह के मंच के संयोजक चमन राही ने इस मामले पर कड़ा संज्ञान लेते हुए डीसी मंडी को शिकायत पत्र दिया है।

शरारती तत्त्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी (एसपी गुरदेव शर्मा )

जानकारी के अनुसार यू-ब्लॉक में हंगामा होने के बाद पुलिस ने यू-ब्लॉक में माहौल को शांत कर स्थिति पर काबू पाया। चमन राही द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार यह बताया कि दो दिन पहले भी इस तरह की घटना हुई थी।

लेकिन प्रशासन ने सबक नहीं लिया जिस बजह से उन्होंने जिला प्रशासन से शरारती तत्त्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने व इस तरह की कुरीतियों पर पाबंदी लगाने की मांग की है।

शराब के नशे में थे युवक

मामले को मद्देनजर रखते हुए पुलिस ने हरकत में आते हुए दो लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। जिनमें एक को जिला परिषद का सदस्य बताया जा रहा है और एक अन्य युवक है। जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है, कि हंगामा करने वाले युवक भी शराब के नशे में थे।

उन्होंने जानबूझकर ऐसा किया। हालांकि इतने दिन यहां किसी ने सामूहिक भोज होने के बावजूद कोई सवाल खड़ा नहीं किया। एसपी गुरदेव शर्मा का कहना है। पुरे मामले की जांच की जा रही है।

Discrimination for Bhole’s offerings at International Shivaratri Festival